Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

इस राज्य मे डेयरी खोलना आसान सरकार दे रही बंपर सब्सिडी

इस राज्य मे डेयरी खोलना आसान सरकार दे रही बंपर सब्सिडी – डेयरी फार्म खोलना किसानों के लिए एक अच्छा विकल्प है। पशुपालन क्षेत्र इस समय काफी लाभदायक साबित हो रहा है। इस क्षमता को पहचानते हुए, हरियाणा सरकार किसानों को पर्याप्त सब्सिडी देकर डेयरी क्षेत्र में उद्यम करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

पशुपालन भारत में ग्रामीण समुदायों के लिए आय का एक आकर्षक स्रोत बनकर उभर रहा है। इस क्षेत्र की क्षमता को पहचानते हुए, हरियाणा सरकार ने किसानों को डेयरी फार्मिंग में उद्यम करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न योजनाएं लागू कर रही हैं। सरकार के प्रयासों का उद्देश्य ग्रामीण आय को बढ़ावा देना, रोजगार के अवसर पैदा करना और राज्य के विकास में योगदान देना है।

पशुपालन की बढ़ती लोकप्रियता

अपनी लाभ और स्थिरता के कारण पशुपालन ने किसानों के बीच काफी लोकप्रियता हासिल की है। डेयरी फार्मिंग, विशेष रूप से, महत्वपूर्ण लाभ की संभावना के साथ आय का एक स्थिर स्रोत प्रदान करता है। डेयरी उत्पादों की मांग बनी हुई है, और डेयरी क्षेत्र पशुधन पालन, दूध प्रसंस्करण और वितरण सहित उत्पादन के विभिन्न चरणों में रोजगार के अवसर प्रदान करता है।

डेयरी फार्मिंग को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार की पहल

हाई-टेक और मिनी डेयरी योजनाएँ 

हरियाणा सरकार ने छोटे किसानों और ग्रामीण युवाओं को अपना व्यवसाय शुरू करने में सहायता करने के लिए हाई-टेक और मिनी डेयरी योजनाएं शुरू की हैं। इन योजनाओं के तहत, इच्छुक डेयरी किसान अपने डेयरी फार्मों को सफलतापूर्वक स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता का लाभ उठा सकते हैं।

डेयरी खोलने के लिए सब्सिडी

डेयरी फार्म को सुविधाजनक बनाने के लिए हरियाणा सरकार किसानों को सब्सिडी प्रदान करती है। हाई-टेक और मिनी डेयरी योजनाओं के हिस्से के रूप में, 10 दुधारू पशुओं के साथ डेयरी खोलने वाले किसानों को पशु लागत पर 25 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है। इसके अतिरिक्त जो लोग 20 से अधिक दुधारू पशुओं के साथ एक हाई-टेक डेयरी स्थापित करने में रुचि रखते हैं, वे पशुधन खरीदने के लिए ब्याज में छूट का लाभ उठा सकते हैं। सरकार अनुसूचित जाति के व्यक्तियों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए 3 दुधारू पशुओं वाली डेयरी खोलने पर 50 प्रतिशत सब्सिडी भी देती है।

अनुसूचित जाति के व्यक्तियों के लिए रोजगार के अवसर

इस क्षेत्र के विकास के महत्व को पहचानते हुए, हरियाणा सरकार का लक्ष्य अनुसूचित जाति समुदायों के व्यक्तियों को रोजगार के अवसर प्रदान करना है। डेयरी खोलने के लिए सब्सिडी और सहायता की पेशकश करके, सरकार अनुसूचित जाति के किसानों को स्व-रोज़गार बनने और राज्य के डेयरी क्षेत्र में योगदान करने में सक्षम बनाती है।

पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड योजना

पशुपालन की जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार ने पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की है। यह योजना किसानों को पशुपालन क्षेत्र में उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए विशेष रूप से डिजाइन किए गए क्रेडिट कार्ड प्रदान करती है। इस योजना को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है, बैंकों ने पहले ही 154,000 पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड जारी कर दिए हैं।

सहकारी दुग्ध समितियां और प्रसंस्करण संयंत्र

दूध की खरीद को सुविधाजनक बनाने के लिए, हरियाणा ने 3,300 सहकारी दूध समितियां और छह दूध प्रसंस्करण संयंत्र स्थापित किए हैं। ये समितियाँ दूध उत्पादकों के लिए उचित मूल्य सुनिश्चित करती हैं और उनके उत्पादों के विपणन में उनका समर्थन करती हैं। प्रोत्साहन के रूप में, सरकार सहकारी दुग्ध समितियों को अतिरिक्त रुपये प्रदान करती है।

इसे भी पढ़े:-

FAQs

1.) हरियाणा में हाई-टेक और मिनी डेयरी योजनाओं से कौन लाभ हो सकता है?

Ans:- हाई-टेक और मिनी डेयरी योजनाएं छोटे किसानों और ग्रामीण युवाओं के लिए खुली हैं जो हरियाणा में अपना डेयरी व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं।

2.) हरियाणा में डेयरी फार्म खोलने के लिए क्या सब्सिडी मिलती है?

Ans:- दुधारू पशुओं के साथ डेयरी खोलना वाले किसान पशु लागत पर 25 प्रतिशत सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं। इसके अतिरिक्त, 20 से अधिक दुधारू पशुओं के साथ एक हाई-टेक डेयरी स्थापित करने में रुचि रखने वालों को पशुधन खरीदने पर ब्याज में छूट मिल सकती है।

3.) पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है?

Ans:-पशुधन किसान क्रेडिट कार्ड योजना एक सरकारी पहल है जो किसानों को पशुपालन क्षेत्र में उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किए गए क्रेडिट कार्ड प्रदान करती है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !