Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

कामधेनु डेयरी योजना 2023 ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, सब्सिडी | Kamdhenu Dairy Yojana

केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा किसान के जीवन स्तर में सुधार हो इसके लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। जिसके लिए सरकारों द्वारा लगातार कई योजनाएं चलाई जा रही है। हमारे देश में गाय के दूध को बहुत ही शुद्ध दूध माना गया है और बहुत ही लाभकारी होता है। गाय के दूध में कई प्रकार के रोग खत्म करने की क्षमता होती है। इस सभी को देखते हुए सरकार द्वारा गाय के दूध का उत्पादन बढ़ाने के लिए कामधेनु डेयरी योजना 2023 की शुरुआत किया गया है।

सरकार का मुख्य उद्देश्य है कि किसान भाई या डेरी से संबंन्धिक काम करने वाले देसी गाय का पालन करें और स्वरोजगार को भी बढ़ावा दें। आप सभी की जानकारी के लिए बता दें। इस योजना के लिए 750 करोड़ रुपये का बजट रखा गया है। कामधेनु डेयरी योजना 2023 क्या है? आप ऑनलाइन आवेदन कैसे कर सकते हैं, इसमें कितनी सब्सिडी मिलती है। इसके बारे में पूरी जानकारी दी जा रही है हमारे साथ बने रहे।

कामधेनु डेयरी योजना 2023

राजस्थान सरकार द्वारा कामधेनु डेयरी योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसमें देसी गाय की हाईटेक डेयरी फार्म को बढ़ावा देने के लिए तथा लोगों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से यह योजना शुरू किया गया है। कामधेनु डेयरी योजना के अंतर्गत पशुपालकों को आने वाले कुल खर्च का 90% तक लोन दिया जा रहा है तथा लोन के रूप में ली गई धनराशि का समय से भुगतान करने पर ब्याज का 30 परसेंट सब्सिडी भी दिया जाएगा।

आप सभी को बता दें कि कामधेनु डेयरी योजना राज्य को पशुपालन विभाग द्वारा आयोजित किया गया है। इस योजना के अंतर्गत 1 इकाई की अनुमानित कीमत लगभग 36.67 लाख की होगी। जिसमें आने वाले कुल खर्च का 30% सरकार देगी तथा इसमें 60 परसेंट धनराशि बैंक द्वारा ऋण रूप में मिलेगा। इस प्रकार किसान केवल 10% खर्च कर अपना कार्य कर सकते हैं।

कामधेनु डेयरी योजना का मुख्य उद्देश्य (Kamdhenu Dairy Yojana Main Purpose)

कामधेनु डेयरी योजना का मुख्य उद्देश्य, राज्य में किसानों, पशुपालकों, महिलाओं तथा नव युवकों को स्वरोजगार उपलब्ध कराना है। इसके साथ-साथ डेयरी फार्म में प्रजनन विधि के माध्यम से अधिक दूध देने वाली उन्नत नस्ल की देसी गाय का संवर्धन किया जाए। इससे देश में गाय उत्पादक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ पशुपालन क्षेत्र में किसानों और व्यवसायियों को लाभ मिल सके।

कामधेनु डेयरी योजना सब्सिडी (Kamdhenu Dairy Yojana Subsidy)

कामधेनु स्कीम के अंतर्गत किसान और पशुपालन लोन सब्सिडी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत किस 25 दुधारू गायों को पालने के लिए तीन पर्सेंट ब्याज की दर से कुल खर्च का 85 प्रतिशत दिया जायेगा तथा बचे हुए धनराशि आपको अपने पास से वाहन करना होगा। इस योजना के अंतर्गत ली गई धनराशि को समय से वापस करने पर आपको 35 परसेंट की सब्सिडी भी दी जाएगी।

कामधेनु डेयरी योजना का उद्देश्य

  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को लोन पर सब्सिडी प्रदान किया जाएगा।
  • योजना का मुख्य उद्देश्य है नागरिकों को स्वरोजगार उपलब्ध कराना और उन्हें आत्मनिर्भर भारत में सहयोग करना।
  • डेयरी योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को अपने पास से केवल 10% धनराशि खर्च करनी होगी।
  • इस स्कीम के अंतर्गत बैंक से लिया गया लोन समय से वापस करने पर आपको 30% की सब्सिडी भी दी जाएगी।
  • इस योजना से जुड़ने पर किसानों और पशुपालकों को उन्हें ट्रेनिंग भी दिया जाएगा जिससे वह अधिक से अधिक योजना का लाभ प्राप्त कर सकें।
  • देसी दुधारू गायो की संख्या को बढ़ाने पर भी इस योजना से मदद मिलेगी।

योजना के लिए पात्रता ( Eligibility)

  • योजना का लाभ लेने वाले पशुपालक या किसानों के पास कम से कम 1 एकड़ की भूमि होना।
  • आवेदकों को पशुपालन से संबंधित कम से कम 3 वर्ष का अनुभव होना चाहिए।
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों को हरे चारे की उचित व्यवस्था होनी चाहिए।
  • कामधेनु योजना के अंतर्गत आप तभी पात्र मानें जायेंगे जब आप की भूमि सीमा क्षेत्र से दूर होगी।

Read More :-

आवश्यक डाक्यूमेंट्स (Documents)

  • आवेदक का आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • निवास प्रमाण (Residence Certificate)
  • मोबाइल नंबर (Mobile Number)
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो (Passport Size Photo)
  • बैंक खाता नंबर (Bank Account Number)
  • पशु पालन से संबंधित कोई दस्तावेज (Animal Husbandry Related any Document)

कामधेनु डेयरी योजना मे आवेदन कैसे करे

  • कामधेनु डेयरी योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले इसकी https://gopalan.rajasthan.gov.in/अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खोलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Programs & Schemes का सेक्शन दिखाई देगा उसमें गौशाला रजिस्ट्रेशन (Goshala Registration) के ऑप्शन पर आपको क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा।
  • यहां आपको Goshala Registration Application Form पर क्लिक करके आवेदन फार्म डाउनलोड करना होगा।
  • अब फार्म में पूछी गई आपको सभी जानकारियां सही-सही भरना होगा इसके बाद मांगे गए डाक्यूमेंट्स को जोड़ना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने नजदीकी पशुपालन विभाग में जाकर इस आवेदन फार्म को जमा करना होगा।
  • इसके बाद आपके आवेदन फार्म की जांच किया जाएगा अगर आपका आवेदन सही पाया गया तो आपका आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा।
  • इसके उपरांत आपको कामधेनु डेयरी सब्सिडी योजना के अंतर्गत लोन प्रदान कर दिया जाएगा।

कामधेनु डेयरी योजना हेल्पलाइन नंबर (Kamdhenu Scheme Helpline Number)

  • राष्ट्रीय कामधेनु आयोग पशुपालन और डेयरी विभाग, मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय,
  • कार्यालय का पता: डीएमएस कॉम्प्लेक्स (प्रशासनिक ब्लॉक) शादीपुर, नई दिल्ली – 110008
  • हेल्पलाइन नंबर – (011) 2587-1187 / 2587-1107
  • ईमेल आईडी – [email protected]

FAQ :

कामधेनु डेयरी योजना राजस्थान क्या है?

राजस्थान सरकार ने पशुपालन और डेयरी किसानों के लिए कामधेनु डेयरी योजना शुरू की है। इस योजना का उद्देश्य डेयरी संचालन के लिए स्थानीय गाय चरवाहों को 90% तक ऋण प्रदान करके पशुपालन का समर्थन करना है। समय पर ऋण चुकाने से प्राप्तकर्ता को लाभ हो सकता है।

राजस्थान की प्रथम डेयरी की स्थापना कब हुई?

राजस्थान में डेयरी विकास 1970 के दशक में राज्य सरकार के मार्गदर्शन में 1975 में राजस्थान राज्य डेयरी विकास निगम (RSDDC) की स्थापना के साथ शुरू हुआ।

राष्ट्रीय कामधेनु योजना क्या है?

कामधेनु योजना के तहत, सभी किसानों और पशुपालकों को ऋण सब्सिडी उपलब्ध है। यह योजना 25 डेयरी गायों को पालने के लिए 3% ब्याज पर कुल लागत का 85% प्रदान करती है, शेष 15% के लिए किसान जिम्मेदार है।

डेयरी खोलने के लिए कितने पैसे चाहिए?

10 पशुओं के साथ डेयरी फार्म शुरू करने के लिए 7-10 लाख रुपए की आवश्यकता होती है। कृषि मंत्रालय की डीईडीएस योजना के तहत आप नाबार्ड से 2.5 लाख रुपये की सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं। यह सब्सिडी डेयरी फार्म की लागत का 25% तक कवर करती है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !