Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

Makka Ki Top Variety: मक्का की ये किस्में आपको कर देंगी मालामाल 1 एकड़ में होगी लाखों की कमाई

Makka Ki Top Variety: मक्का की ये किस्में आपको कर देंगी मालामाल 1 एकड़ में होगी लाखों की कमाई:- भारत देश में मक्का की खेती बहुत बड़े पैमाने पर की जाती है और इस समय मक्का का सीजन आ चुका है और किसान इस खेती की तैयारी में लगे हुए। किसान भाई मक्का की बुवाई करके लाखों रुपए कमा  सकते है। मक्का की खेती से लाखों लोगों के लिए मक्का एक भोजन तथा पशुओं के चारे में भी इसका उपयोग किया जाता है। किसान भाई मक्का की कौन उन्नत किस्म की बुवाई करके लाखो कमा सकते है।

आज के इस लेख में हम किसान भाइयों को बताएंगे कि मक्के की कौन सी किस्म की बुआई करें।जिसस उन्हे अधिक से अधिक लाभ हो। हमारे देश में किसान भाइयों को जानकारी की कमी होने के कारण उन्हें अच्छे बीज की गुणवत्ता को जाच नही पाते है। जिसके कारण वह अच्छा पैदावार नहीं कर पाते हैं। जिससे मुनाफा सही नही होता है। इसलिए किसान भाइयों को यह जरूरी होता है कि वह सही किस्म का चयन करें और अच्छा मुनाफा कामएँ।

मक्के की खेती के लिए भूमि का चुनाव

मक्का की खेती करने के लिए भूमि का चुनाव करना बहुत ही आवश्यकता होता है इसलिए हमें एक ऐसी जमीन का चयन करना चाहिए जिसमें पानी काफी देर तक रहता और जो पानी को अच्छी तरह से सूख कर उसे मे संचयित रखता हो। इस तरह की जमीन में मक्के की उत्पादन अधिक देखा गया है। मक्के की खेती ज्यादातर पहाड़ी और मैदानी क्षेत्रों में की जाती है। वैसे किसान भाइयों आपको बता दें कि मक्के की खेती लगभग सभी प्रकार की मिट्टियो में भी किया जाता है। भारत मे प्रमुख रूप से मक्की की खेती में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, बिहार, आंध्र प्रदेश राज्य में की जाती है लेकिन अब छत्तीसगढ़ एमपी, छ्त्तीसगढ़, झारखंड, गुजरात , एमपी, छ्त्तीसगढ़, झारखंड, गुजरात आदि इसकी खेती बढती जा रही है।

मक्का की खेती के लिए खाद

मक्का की खेती करने के लिए किसान भाइयों को खाद और उर्वरक की बहुत ही आवश्यकता पड़ती है क्योंकि अच्छी प्रकार किस्म का चयन करने के बाद फसलों की वृद्धि और सही उत्पादन प्राप्त करने के लिए उर्वरक और खाद की आवश्यकता होगी। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि मक्का की खेती के लिए प्रयोग की जाने वाली नाइट्रोजन का तीसरा भाग बुआई के समय देना चाहिए। नाइट्रोजन का दूसरा भाग लगभग 1 महीने बाद देना चाहिए और तीसरा और अंतिम भाग जब पेड़ में फुल आने लगते हैं तब दिया जाता है। इसके साथ-साथ पोटेशियम और फास्फोरस पूरी मात्रा बुवाई के समय खेत में डाल देनी चाहिए। जिससे पौधे की जड़ मजबूत हो सके और पौधा अच्छी तरह से विकास कर सें।

इसे भी पढ़े-

मक्का की उन्नत किस्में (Makka Ki Top Variety)

मक्का की वैसे तो कई उन्नत किस्में होती है लेकिन नीचे कुछ प्रमुख के बारे में हमने बताया है।
एचएम-11 (एचएम-11):
HM-11 मक्का की ऐसी किस्म है जो देर से पकती है। जो आम तौर पर पकने में 95 से 120 दिन का समय लेती है। यह अपनी कम रोग लगने और अधिक पैदावरा देने के लिए जाना जाता है। यह किस्म उत्तर प्रदेश, बिहार और छत्तीसगढ़ जैसे क्षेत्रों में लोकप्रिय है। एचएम-11 से किसान 70 से 90 क्विंटल प्रति हेक्टेयर पैदावार की उम्मीद कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, संक्रमणों के प्रति इसका प्रतिरोध किसानों के लिए खेती की लागत को कम करने में मदद करता है।

एस पीवी-1041 (एसपीवी-1041):

S. PV-1041 मध्य प्रदेश में उगाई जाने वाली मक्का की एक किस्म है। इस किस्म के दाने सफेद रंग के होते हैं। फसल को पकने में लगभग 110 से 115 दिन लगते हैं और किसान प्रति हेक्टेयर लगभग 30 से 32 क्विंटल की औसत उपज प्राप्त कर सकते हैं।

पूसा विवेक हाइब्रिड 27 बेहतर:

पूसा विवेक हाइब्रिड 27 इम्प्रूव्ड मक्के की जल्दी पकने वाली किस्म है जो सिर्फ 84 दिनों में पककर तैयार हो जाती है। 2020 में लॉन्च की गई यह किस्म अपनी उच्च प्रोटीन सामग्री के लिए जानी जाती है और इसका व्यापक रूप से पशु चारा उत्पादन के साथ-साथ प्रोटीनेक्स जैसे उत्पादों के निर्माण में उपयोग किया जाता है। यह किसानों को कम लागत पर उच्च उपज क्षमता प्रदान करता है।

डी। 941 (डी। 941):

D. 941 हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में उगाई जाने वाली मक्का की एक क्लस्टर किस्म है। इसे परिपक्व होने में लगभग 80 से 85 दिन लगते हैं और किसान प्रति हेक्टेयर लगभग 40 से 45 क्विंटल उपज की उम्मीद कर सकते हैं।

प्रकाश-जे.एच. 3189 (प्रकाश-जेएच 3189):

प्रकाश-जे.एच. 3189 पूरे भारत में उगाई जाने वाली एक प्रारंभिक परिपक्व संकर मक्का किस्म है। यह 80-85 दिनों में पक कर 40 से 45 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपज देती है।

शक्तिमान:

शक्तिमान मध्य प्रदेश में उगाई जाने वाली मक्का की एक किस्म है। इस किस्म के दाने नारंगी रंग के होते हैं। इसे परिपक्व होने में 100 से 110 दिन लगते हैं और किसान प्रति हेक्टेयर लगभग 70 क्विंटल की औसत उपज प्राप्त कर सकते हैं।

मक्का की इन सभी किस्मों का उपयोग करके, किसान फसल उत्पादन में वृद्धि और अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए, सभी किसान भाई अपनी पैदावार को बढ़ाने के लिए इन सभी किस्मों मे से किसी एक का उपयोग करके अधिक पैदावार और मुनाफा कमा सकते है।

FAQs:-

1.) सबसे ज्यादा पैदावार देने वाली मक्का कौन सी है?

Ans:- मक्का की सबसे अधिक पैदावार देने वाली किस्म: पूसा एचएम 8 उन्नत (संकर किस्म) है।

2.) हमारे पास मक्का की कितनी किस्में हैं?

Ans:- हमारे पास मक्का की लगभग 50 प्रजातियां मौजूद हैं । सफ़ेद, पीला और लाल सबसे आम खेती की जाने वाली मक्का प्रजातियाँ हैं।

3.) मक्का की सबसे अच्छी किस्म कौन सी है?

Ans:-MAS 09P और MAS 16B मक्का की अच्छी किस्म मानी जाती है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !