Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

आडू फल के फायदे, नुकसान, वैज्ञानिक नाम, बनने वाली रेसपी

आड़ू या सतालू एक फल है। जो सेब और चेरी जैसे फल मे शामिल होता है। आडू फल के फायदे यह अपने नरम रसदार गूदे और मीठे स्वाद के लिए जाना जाता है। आड़ू का फल गोल या थोड़ा तिरछे आकार होता है। इसकी खेती हजारों वर्षों से की जा रही है। आज संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, स्पेन, इटली और ग्रीस सहित दुनिया के कई हिस्सों में इसकी खेती की जाती है। वे आमतौर पर गर्मियों के महीनों मे काटे जाते हैं आड़ू को या तो काटकर या उन्हें स्लाइस करके या सलाद के रुप मे उपयोग किया जाता है। आड़ू न केवल स्वादिष्ट होते हैं बल्कि इसमे कई विटामिन ए और सी, आहार फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट भी पाये जाते है। जो शरीर को कोशिका क्षति से बचाने में मदद करते हैं।

आडू फल का वैज्ञानिक नाम एवं कुल ( Tamarind Scientific Name in Hindi )

  • आड़ू का वैज्ञानिक नाम प्रूनस पर्सिका ( Prunus persica) है।
  • यह रोसेसी कुल का पौधा हैं।
  • भारत के पर्वतीय तथा उपपर्वतीय भागों में इसकी खेती की जाती है।
  • आड़ू की रेसिपी कैसे बनाई जाती है। आइये जानते हैं आड़ू की सब्जी कैसे बनाएं।

आडू फल की रेसपी

आड़ू सेहत के लिए अच्छा माना जाता है आड़ू खाने से शरीर के कई रोग खत्म हो जाते है। आज हम आपको आड़ू की सब्जी के फायदे, आड़ू की सब्जी कैसे बनाये जिसके लिए आपको बहुत ज्यादा सामग्री जुटाने की जरूरत नहीं है और बहुत ही कम समय में आड़ू की सब्जी बनाकर तैयार कर सकते है।

आड़ू की सब्जी बनाने के लिए सामान

  • आड़ू ( peaches )
  • प्याज (chopped)
  • अदरक (garlic)
  • तेल (oil )
  • करी पाउडर (curry powder)
  • जीरा पिसा हुआ (ground cumin)
  • पिसा हुआ धनिया ( ground coriander)
  • हल्दी ( turmeric)
  • मिर्च पाउडर (chili powder )
  • टमाटर ( tomato )
  • नमक ( Salt)
  • धनिया पत्ती (Fresh cilantro )

आड़ू की सब्जी बनाने की विधि

  • सबसे पहले एक कड़ाही में तेल गरम करें या मध्यम आँच पर ।
  • इसके बाद उसमे कटा हुआ प्याज, कीमा बनाया हुआ लहसुन और अदरक डालें। प्याज़ को सुनहरा होने तक भूनें।
  • अब कराही में करी पाउडर, पिसा जीरा, पिसा धनिया, हल्दी और मिर्च पाउडर डालें। प्याज़ और मसालों को अच्छी तरह से मिलाएँ।
  • अब कटा हुआ आड़ू कराही में डाले और उन्हें मसाले और प्याज के साथ मिलाएं।
  • अगर आप मिलाना चाहे तो नारियल का दूध और सब्जी शोरबा, टमाटर का पेस्ट मिलाएं।
  • इसके बाद आँच को कम कर दें और सब्जी को लगभग 15-20 मिनट तक पकाये।
  • इसके बाद भुना हुआ जीरा पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, अदरक का पेस्ट, नमक और काला नमक डालें। सब कुछ एक साथ मिला लें।
  • अब चटनी को धीमी आंच पर 10-15 मिनट के लिए उबलने दें, बीच-बीच में चलाते रहें जब तक कि यह गाढ़ा न हो जाए।
  • आप चाहें तो करी को गाढ़ा करने के लिए चमचे से थोड़े से आड़ू को हल्का मैश कर सकते हैं।
  • अब कराही को आंच से उतार लें और सब्जी को पूरी तरह से ठंडा होने दें।
  • ठंडा होने के बाद, आड़ू की सब्जी को परोसे।
  • इस प्रकार से आप की आड़ू की सब्जी तैयार हो गयी है।
  • ताज़ा और स्वादिष्ट आड़ू की सब्जी का आनंद लें!

इसे भी पढ़े:-

आडू फल के फायदे (Benefits of Tamarind in Hindi)

आड़ू बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके बारे में पूरी जानकारी हम नीचे दे रहे है। आप इसे पुरा पढ़े

1. बालो के लिए आडू फल के फायदे

आड़ू में विटामिन ए और सी पाया जाता है जो बालों के विकास के लिए आवश्यक होते हैं। विटामिन ए सीबम के उत्पादन में मदद करता है। जो स्कैल्प को मॉइस्चराइज़ करता है और बालों के रोम को स्वस्थ रखता है। विटामिन सी एक एंटीऑक्सीडेंट है जो कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है, बालों के विकास में मदद करता है। इसके साथ साथ आड़ू विटामिन ई और के, पोटेशियम और आयरन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। ये पोषक तत्व बालों के रोम को पोषण देने में मदद करते है और बाल मजबूत और स्वस्थ होते हैं।

2. लीवर के लिए आडू फल के फायदे

आड़ू विटामिन सी और बीटा-कैरोटीन जैसे एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। ये यौगिक ऑक्सीडेटिव तनाव से लड़ने में मदद करते हैं और लीवर सहित शरीर में मुक्त कणों से होने वाले नुकसान को कम करते हैं। आड़ू लीवर की कोशिकाओं को नुकसान से बचाने और लीवर के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। आड़ू में पानी की मात्रा अधिक होती है, जो उचित हाइड्रेशन बनाए रखने में योगदान कर सकती है।

3. त्वचा के लिए आडू फल खाने के फायदे

जैसा की हमने बताया की आड़ू में पानी की मात्रा अधिक होती है। जो त्वचा को हाइड्रेट और मॉइस्चराइज रखने में मदद कर सकता है और यह त्वचा की लोच बनाए रखने, रूखेपन को रोकने मे भी मदद करता है।आड़ू विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत माना जाता हैं। इसे अपने आहार में शामिल करने से कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद मिलती है। जो त्वचा चिकना करने मे मदद करते है।

4. प्रेग्नेंसी में आडू फल के फायदे

आड़ू विटामिन और खनिजों से भरे होते हैं जो माँ और बढ़ते बच्चे दोनों के विकास के लिए महत्वपूर्ण होते है। आड़ू मे कई पोषक तत्वों पाये जाते है। जैसे विटामिन सी, विटामिन ए, पोटेशियम के साथ -साथ फाइबर का एक अच्छा स्रोत माना जाता हैं। गर्भावस्था के दौरान ठीक से हाइड्रेटेड रहना महत्वपूर्ण है, और आड़ू में पानी की मात्रा अधिक होती है जो आपकी हाइड्रेशन की जरूरतों को पूरा करने में मदद कर सकती है।

आडू फल खाने के नुकसान (Side Effects of Tamarind Hindi)

आड़ू के खाने से हमें फायदे और नुकसान दोनों होते हैं नीचे हमने आड़ू के खाने से कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

  • आड़ू को खाने से कुछ व्यक्तियों मे एलर्जी की समस्या देखी गई है। जिसमे पाचन संबंधी परेशानी का अनुभव हो सकता है। या सूजन, गैस या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या हो सकती है।
  • इमली में फाइबर की मात्रा अधिक जाती है इसके अधिक सेवन करने से उल्टी दस्त जैसी समस्या देखने को मिल सकती है

इसे भी पढ़े:

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.) आडू फल का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

Answer:- आड़ू का वैज्ञानिक नाम प्रूनस पर्सिका ( Prunus persica) है।

2.) क्या रोज आड़ू खाना अच्छा है?

Answer:- आड़ू फल रोज खाने से हृदय स्वास्थ्य अच्छा रहता है। आड़ू हृदय रोग के लिए जोखिम वाले कारकों को कम कर सकते हैं।

3.) आड़ू का साइड इफेक्ट क्या है?

Answer:- आड़ू खाने से पेट फूल सकता है । उनमें सैलिसिलेट्स और एमिग्डालिन नामक एक यौगिक भी होता है, जो कुछ व्यक्तियों में एलर्जी का कारण बनता है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !