Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

बंजर भूमि मे उगाये सरसो की उन्नत किस्म, पैदावार देख पड़ोसी परेशान

बंजर भूमि मे उगाये सरसो की उन्नत किस्म, पैदावार देख पड़ोसी परेशान – सरसों की बुआई खेती का एक महत्वपूर्ण पहलू है और भरपूर फसल के लिए सही किस्म और समय का चयन करना आवश्यक है। इस लेख में, हम आपको सरसों की बुआई करते समय सही किस्म और प्रमुख कारकों के बारे में बताएंगे, जिसमें बुआई करने का सही समय और विभिन्न प्रकार की मिट्टी के लिए सर्वोत्तम किस्में शामिल हैं।

सरसो की बुआई का सही समय

यह साल का वह समय है जब किसान सरसों की बुआई की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन धैर्य रखना जरूरी है। कृषि अधिकारी एडीओ डा. संतलाल इस बात पर जोर देते हैं कि अभी सरसों की बुआई का उपयुक्त समय नहीं है। इसके बजाय, वह किसानों को 15 अक्टूबर के बाद तक इंतजार करने की सलाह देते हैं। क्यों? इस अवधि के दौरान चिलचिलाती गर्मी अंकुरित सरसों के पौधों के लिए हानिकारक साबित हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप समय और धन दोनों की हानि होती है। अपनी सफलता की संभावनाओं को अधिकतम करने के लिए, 15 अक्टूबर से 15 नवंबर तक सरसों की बुआई करने पर विचार करें।

आपकी मिट्टी के लिए सरसों की उन्नत किस्में

सरसों की सही किस्म चुनना एक महत्वपूर्ण निर्णय है जो आपकी फसल पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। कृषि अधिकारी एडीओ डॉ. संतलाल आपकी मिट्टी के प्रकार के आधार पर विशिष्ट किस्मों की सिफारिश करते हैं:

बंजर भूमि के लिए: आरएच 725

यदि आपकी भूमि बंजर है, तो आरएच 725 एक उत्कृष्ट विकल्प है। यह किस्म ऐसी परिस्थितियों के लिए उपयुक्त है और कम उपजाऊ मिट्टी में भी पनप सकती है।

दोमट मिट्टी: आरएच 749 और आरएच 761

दोमट मिट्टी के लिए, आरएच 749 या आरएच 761 का विकल्प चुनें। इन किस्मों को विशेष रूप से दोमट परिस्थितियों में पनपने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिससे एक सफल फसल सुनिश्चित होती है।

हरियाणा बीज विकास निगम

ये अनुशंसित किस्में हरियाणा बीज विकास निगम के माध्यम से आसानी से उपलब्ध हैं। अच्छी खबर यह है कि ये बीज बजट के अनुकूल हैं, इनकी कीमत सिर्फ 80 रुपये प्रति किलोग्राम है। उल्लिखित किस्मों के अलावा, सरसों की बुआई के लिए आप कुछ अन्य विकल्प भी तलाश सकते हैं:

आरएच-30

सरसों की विश्वसनीय किस्म की तलाश कर रहे किसानों के लिए आरएच-30 एक भरोसेमंद विकल्प है। पिछले कुछ वर्षों में इसके प्रदर्शन ने इसे पसंदीदा चयन बना दिया है।

आरएच-8812

यदि आप कोई विकल्प तलाश रहे हैं, तो RH-8812 पर विचार करें। यह विशेषताओं का एक अलग सेट प्रदान करता है जो आपकी विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुरूप हो सकता है।

आरएच 714 – नया दावेदार

कुछ नया चाहने वालों के लिए, आरएच 714 एक रोमांचक किस्म है। परिदृश्य में अपेक्षाकृत नया होने के बावजूद, यह अपनी आशाजनक विशेषताओं के कारण लोकप्रियता हासिल कर रहा है।

सरसों की बुआई खेती का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, और विविधता और समय के संबंध में सही निर्णय लेना आपकी सफलता को बहुत प्रभावित कर सकता है। याद रखें, धैर्य महत्वपूर्ण है—बुवाई शुरू करने के लिए 15 अक्टूबर के बाद तक प्रतीक्षा करें। इसके अतिरिक्त, सरसों की वह किस्म चुनें जो आपकी मिट्टी के प्रकार के लिए सबसे उपयुक्त हो, चाहे वह बंजर हो या दोमट। सही चयन आपकी फसल में बड़ा अंतर ला सकता है।

इसे भी पढ़े:-

FAQs

1.) क्या मैं 15 अक्टूबर से पहले सरसों की बुआई कर सकता हूँ?

Ans:- नहीं, अत्यधिक गर्मी के कारण 15 अक्टूबर से पहले सरसों की बुआई करना उचित नहीं है, इससे अंकुरित सरसों के पौधों को नुकसान हो सकता है।

2.) मुझे सरसों की अनुशंसित किस्में कहां मिल सकती हैं?

Ans:- आप हरियाणा बीज विकास निगम में अनुशंसित सरसों की किस्में पा सकते हैं, जो 80 रुपये प्रति किलोग्राम की किफायती दर पर उपलब्ध हैं।

3.) अगर मेरी ज़मीन बंजर है तो मुझे क्या करना चाहिए?

Ans:- यदि आपकी भूमि बंजर है, तो सरसों की बुआई के लिए अनुशंसित किस्म आरएच 725 है।

4.) दोमट मिट्टी के लिए कौन सी किस्म उपयुक्त है?

Ans:- दोमट मिट्टी के लिए, आरएच 749 या आरएच 761 का उपयोग करने पर विचार करें क्योंकि वे इन परिस्थितियों में पनपने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

5.) सरसों की बुआई के लिए आरएच 714 एक आशाजनक विकल्प क्यों है?

Ans:- आरएच 714 अपनी अनूठी विशेषताओं और सफल फसल की क्षमता के कारण एक नए दावेदार के रूप में लोकप्रियता हासिल कर रहा है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !