Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

गेहूं को नुकसान पहुचा सकते है घुन, घुन से बचने के घरेलू उपाय

गेहूं को नुकसान पहुचा सकते है घुन, घुन से बचने के घरेलू उपाय – भारत में गेहूं एक प्रमुख फसल है, जो देश की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। भारत एक कृषि प्रधान देश है, भारत भरपूर फसल उपज सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी खेती पद्धतियों पर बहुत जोर देता है। किसानों के सामने आने वाली विभिन्न चुनौतियों में से, गेहूं में घुन के संक्रमण का खतरा एक महत्वपूर्ण चिंता के रूप में सामने आता है। घुन वे कीड़े हैं जो भंडारित गेहूं पर कहर बरपा सकते हैं, जिससे क्षति और गिरावट हो सकती है।

गेहूँ रखने से पहले उचित सुखा ले

घुन संक्रमण का खतरा मुख्य रूप से भंडारित गेहूं में अत्यधिक नमी के कारण होता है। घुन नमी की स्थिति में पनपते हैं, इसलिए यह सुनिश्चित करना अनिवार्य हो जाता है कि भंडारण से पहले गेहूं पूरी तरह से सूख जाए। इस खतरे से निपटने के लिए, कटे हुए गेहूं को सीधे सूर्य की रोशनी में रखना आवश्यक है, जिससे यह पूरी तरह से सूख जाए। यह सरल लेकिन महत्वपूर्ण कदम घुन से होने वाले नुकसान के जोखिम को काफी कम कर सकता है।

गेहूँ के साफ बोरियां मे भरकर रखे

भंडारण बोरियों की गुणवत्ता आपके गेहूं को घुन के संक्रमण से बचाने में उल्लेखनीय अंतर ला सकती है। गेहूं के भंडारण के लिए साफ और अच्छी तरह से रखरखाव वाली बोरियों का चयन करने से संक्रमण की संभावना काफी कम हो सकती है। क्षति या संदूषण के किसी भी लक्षण के लिए नियमित रूप से बोरियों का निरीक्षण करें, क्योंकि एक समझौता बोरी घुन के लिए प्रवेश बिंदु प्रदान कर सकती है।

गेहूँ के साफ स्थान पर रखें

भंडारण क्षेत्र जहां गेहूं की बोरियां रखी जाती हैं, घुन के संक्रमण को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सुनिश्चित करें कि भंडारण कक्ष साफ, सूखा और अच्छी तरह हवादार हो। गेहूं का भंडारण करने से पहले, संक्रमण के किसी भी संभावित स्रोत को खत्म करने के लिए भंडारण स्थान को अच्छी तरह से साफ और कीटाणुरहित करें। एक स्वच्छ वातावरण न केवल घुन को रोकता है बल्कि आपके संग्रहीत गेहूं की समग्र दीर्घायु को भी बढ़ावा देता है।

गेहूँ रखते समय बोरियो को जमीन पर ना रखे

गेहूं का भंडारण करते समय बोरियों को सीधे जमीन पर रखने से बचें। भंडारित गेहूं और जमीन के बीच अवरोध पैदा करने के लिए भंडारण मंच को ऊंचा करें। यह एहतियाती उपाय भंडारित गेहूं तक घुन की आसान पहुंच को रोक सकता है, जिससे संक्रमण का खतरा कम हो जाता है। इसके अतिरिक्त, एक ऊंचा भंडारण मंच बेहतर वायु प्रवाह की अनुमति देता है, जिससे नमी पसंद करने वाले कीटों की वृद्धि हतोत्साहित होती है।

गेहूँ नीम के पत्ते, तेज पत्ते आदि रखे

प्रकृति कई प्रकार के प्रभावी विकर्षक प्रदान करती है जो आपके गेहूं से घुन को दूर रखने में मदद कर सकते हैं। सूखे नीम के पत्ते, तेज पत्ते, या लौंग जैसे प्राकृतिक विकर्षक का उपयोग करने पर विचार करें। ये प्राकृतिक पदार्थ ऐसी गंध छोड़ते हैं जो घुन को अप्रिय लगती है, जो उन्हें आपके गेहूं को संक्रमित करने से रोकती है। अपनी फसल के चारों ओर एक सुरक्षात्मक अवरोध बनाने के लिए इन विकर्षकों को भंडारण क्षेत्र के भीतर रणनीतिक रूप से रखें।

गेहूं की गुणवत्ता को बनाए रखने और घुन के संक्रमण से सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए निवारक उपायों के संयोजन और कीट के व्यवहार की गहरी समझ की आवश्यकता होती है। इन पांच सरल और प्रभावी घरेलू उपचारों का पालन करके, आप अपनी गेहूं की फसल की सुरक्षा कर सकते हैं और घुन से होने वाले महत्वपूर्ण नुकसान को रोक सकते हैं।

इसे भी पढ़े –

FAQs

1.) क्या घुन नियंत्रण के लिए कोई रासायनिक विकल्प हैं?

Ans:- जबकि रासायनिक कीटनाशक प्रभावी हो सकते हैं, वे मानव स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए जोखिम भी पैदा कर सकते हैं। घरेलू उपयोग के लिए प्राकृतिक विकर्षक एक सुरक्षित विकल्प हैं।

2.) क्या घुन लगे गेहूं को उपभोग के लिए बचाया जा सकता है?

Ans:- घुन लगे गेहूं को फेंक देना चाहिए, क्योंकि कीड़े और उनके अपशिष्ट उत्पाद गेहूं को उपभोग के लिए अनुपयुक्त बना सकते हैं।

3.) मुझे प्राकृतिक रिपेलेंट्स को कितनी बार बदलना चाहिए?

Ans:-प्राकृतिक रिपेलेंट्स को हर कुछ महीनों में या जब उनकी शक्ति कम हो जाए तो बदलने की सलाह दी जाती है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !