Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

इमली के फायदे, नुकसान, वैज्ञानिक नाम, बनने वाली रेसपी

इमली एक उष्णकटिबंधीय फल है जो अपने मीठे और तीखे स्वाद के लिए जाना जाता है। इमली के फायदे इसकी खेती दुनिया भर मे की जाती है। यह फल एक फली जैसे खोल में बंद होता है, और इसके अंदर एक चिपचिपा गूदा होता है जो बीजों को घेरे रहता है। इमली का गूदा आमतौर पर कई व्यंजनों में उपयोग किया जाता है। साथ ही साथ इससे चटनी, सॉस बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है, इसमें विभिन्न विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। जो पाचन संबंधी समस्याओं को कम करने मदद करते है।

इमली का वैज्ञानिक नाम एवं कुल ( Tamarind Scientific Name in Hindi )

  • इमली का वैज्ञानिक नाम टैमारिंडस इंडिका ( Tamarindus indica) है।
  • यह फैबेसी कुल का पौधा हैं।
  • इमली का वृक्ष समय के साथ बहुत बड़ा हो जाता है और इसकी पत्तियाँ एक वृन्त के दोनों तरफ छोटी-छोटी होती है।
  • इमली की रेसिपी कैसे बनाई जाती है। आइये जानते हैं इमली की चटनी की रेसिपी बताइए।

इमली की रेसपी

इमली सेहत के लिए अच्छा माना जाता है इमली खाने से शरीर के कई रोग खत्म हो जाते है। आज हम आपको इमली की चटनी के फायदे, इमली की चटनी कैसे बनाये जिसके लिए आपको बहुत ज्यादा सामग्री जुटाने की जरूरत नहीं है और बहुत ही कम समय में इमली की चटनी बनाकर तैयार कर सकते है।

इमली की चटनी बनाने के लिए सामान

  • इमली ( tamarind )
  • गुड़ या चीनी (jaggery or sugar)
  • पानी(Water)
  • भुना जीरा पाउडर (roasted cumin powder )
  • लाल मिर्च पाउडर (red chili powder )
  • अदरक का पेस्ट (ginger paste)
  • नमक ( salt )
  • काला नमक ( black salt)
  • चाट मसाला (chaat masala )

इमली की चटनी बनाने की विधि

  • एक कराही में इमली का गूदा और पानी मिलाएं। इसे मध्यम आंच पर उबाल लें, बीच-बीच में चलाते रहें।
  • इसके बाद मिश्रण में उबाल आने के बाद, आँच को कम कर दें और इसे लगभग 5 मिनट तक उबलने दें, जिससे इमली का गूदा नरम हो जाए।
  • अब कराही को आंच से उतार लें और मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने दें।
  • जब इमली का मिश्रण ठंडा हो जाए, इसे एक छलनी के माध्यम से एक अलग कटोरे में छान लें, जितना संभव हो उतना गूदा निकालने।
  • इसके बाद इमली के गूदे को कराही में वापस डालें और धीमी आंच पर वापस रखें।
  • अब इमली के गूदे में गुड़ या चीनी डालें और अच्छी तरह से तब तक हिलाएं जब तक कि यह पूरी तरह से घुल न जाए।
  • इसके बाद भुना हुआ जीरा पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, अदरक का पेस्ट, नमक और काला नमक डालें। सब कुछ एक साथ मिला लें।
  • अब चटनी को धीमी आंच पर 10-15 मिनट के लिए उबलने दें, बीच-बीच में चलाते रहें जब तक कि यह गाढ़ा न हो जाए।
  • इसके बाद चटनी को चखें और अपनी पसंद के अनुसार मिठास, तीखापन को चेक करें।
  • अब कराही को आंच से उतार लें और चटनी को पूरी तरह से ठंडा होने दें।
  • ठंडा होने के बाद, इमली की चटनी को एक साफ ड़ब्बे मे रखे।
  • इस प्रकार से इमली की चटनी तैयार हो जाने के बाद, इसे ठंडा करने के लिए कुछ देर के लिए फ्रिज में रख दें।
  • ताज़ा और स्वादिष्ट इमली की चटनी का आनंद लें!

इसे भी पढ़े:-

इमली के फायदे (Benefits of Tamarind in Hindi)

इमली बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके बारे में पूरी जानकारी हम नीचे दे रहे है। आप इसे पुरा पढ़े

1. बालो के लिए इमली के फायदे

इमली मे कई विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है जो बालों को पोषण देने और बालों के स्वास्थ्य रखने मे मदद करते है। इसमें विटामिन सी होता है, जो कोलेजन उत्पादन में सहायता करता है और बालों के स्ट्रैंड को मजबूत करता है। इमली में मौजूद पोषक तत्व जैसे विटामिन ई, आयरन और अमीनो एसिड बालों के विकास के लिए फायदेमंद होते हैं। वे बालों के रोम को पोषण देने में मदद कर सकते हैं, खोपड़ी में रक्त परिसंचरण को उत्तेजित कर सकते हैं और स्वस्थ बालों के विकास में सहायता कर सकते हैं।

2. लीवर के लिए इमली के फायदे

इमली में फ्लेवोनोइड्स और पॉलीफेनोल्स जैसे यौगिक होते हैं जिनमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट लीवर की कोशिकाओं को हानिकारक फ्री रेडिकल्स के कारण होने वाली ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाने में मदद कर सकते हैं। इसके साथ ही साथ इमली में हेपेटोप्रोटेक्टिव गुण हो सकते हैं, जिसका अर्थ है कि यह लीवर को नुकसान से बचाने में मदद कर सकता है।

3. त्वचा के लिए इमली खाने के फायदे

इमली में विटामिन सी और विभिन्न पॉलीफेनोल्स जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट त्वचा को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करते हैं इमली प्राकृतिक एसिड से भरपूर होती है, जैसे टार्टरिक एसिड और मैलिक एसिड, जो त्वचा को हाइड्रेट करने में मदद कर सकते हैं। त्वचा की लोच, चिकनाई और स्वस्थ चमक बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

4. सीमेन क्वालिटी और स्पर्म्स बढ़ाने के लिए इमली के फायदे

इमली एक पौष्टिक फल है जो वीर्य की गुणवत्ता या शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने मे मदद करता है। लेकिन अभी इस पर रिसर्च करने की आवश्यकता है। एक स्वस्थ आहार जिसमें विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल हैं, समग्र प्रजनन स्वास्थ्य का समर्थन कर सकते हैं। इमली कुछ पोषक तत्वों का एक स्रोत है जो अप्रत्यक्ष रूप से प्रजनन स्वास्थ्य में योगदान कर सकते हैं, जैसे कि एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिज।

इमली खाने के नुकसान (Side Effects of Tamarind Hindi)

इमली के खाने से हमें फायदे और नुकसान दोनों होते हैं नीचे हमने इमली के खाने से कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

  • इमली को खाने से कुछ व्यक्तियों एलर्जी की समस्या देखी गई है। जिसमे पाचन संबंधी परेशानी का अनुभव हो सकता है। या सूजन, गैस या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या हो सकती है।
  • इमली में फाइबर की मात्रा अधिक जाती है इसके अधिक सेवन करने से उल्टी दस्त जैसी समस्या देखने को मिल सकती है

इसे भी पढ़े:

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.) इमली का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

Answer:- इमली का वैज्ञानिक नाम टैमारिंडस इंडिका ( Tamarindus indica) है।

2.) रोजाना इमली खाने से क्या होगा?

Answer:- इमली में टैनिन योगिक होते हैं जो पाचन को मुश्किल बना सकते हैं। जब इसे खाते हैं तो पेट में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में एसिड का स्तर बढ़ जाता है.

3.) 1 दिन में कितनी इमली खानी चाहिए?

Answer:- एक दिन में लगभग 10 ग्राम इमली का सेवन कर सकते है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !