Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

खुरमा के फायदे, नुकसान, वैज्ञानिक नाम, बनने वाली रेसपी

ख़ुरमा एक ऐसा फल है जो पहले पूर्वी एशिया मे ही पाया जाता था। खुरमा के फायदे लेकिन अब दुनिया के कई हिस्सों में इसकी खेती की जाती है। यह अपने मीठे और अलद स्वाद के लिए जाना जाता है। ख़ुरमा एक गोल, थोड़ा चपटा आकार के साथ छोटे से मध्यम आकार के फल होते हैं। यह सेब के जैसा दिखाई देने वाला फल है। ख़ुरमा जब पूरी तरह से पके नहीं होते हैं तो अत्यधिक कसैले होते हैं, लेकिन जब वे नरम और गूदेदार हो जाते हैं, तो यह बहुत ही मीठा होते है। Persimmons को ताजा खाया जाता है। इस फल मे विटामिन ए और सी, फाइबर और कई एंटीऑक्सिडेंट पाये जाते है।

खुरमा का वैज्ञानिक नाम एवं कुल ( Persimmon Scientific Name in Hindi )

  • ख़ुरमा का वैज्ञानिक नाम  Diospyros है।
  • यह Ebenaceae कुल का पौधा हैं।
  • चीन ने दुनिया के कुल ख़ुरमा का 75% उत्पादन किया जाता है
  • Diospyros kaki पेड़ ख़ुरमा की सबसे अधिक रूप से खेती की जाने वाली प्रजाति है।
  • ख़ुरमा की रेसिपी कैसे बनाई जाती है। आइये जानते हैं खुरमा मिठाई बनाने की विधि।

खुरमा की रेसपी

खुरमा खाने से शरीर के कई रोग खत्म हो जाते है। आज हम आपको खुरमा मिठाई के फायदे, खुरमा मिठाई कैसे बनाये जिसके लिए आपको बहुत ज्यादा सामग्री जुटाने की जरूरत नहीं है और बहुत ही कम समय में खुरमा मिठाई बनाकर तैयार कर सकते है।

खुरमा मिठाई बनाने के लिए सामान

  • ख़ुरमा ( starfruits)
  • मैदा(water)
  • चीनी (Sugar )
  • दूध (Ice)
  • मक्खन
  • बेकिंग सोडा
  • दालचीनी
  • जायफल
  • नमक

मिठाई बनाने के लिए टूल

  • चाकू (Knife )
  • काटने का बोर्ड (Cutting board)
  • कटोरे
  • जालीदार कपड़ा
  • आदि

खुरमा मिठाई बनाने की विधि

  • सबसे पहले ख़ुरमा के ऊपरी भाग को काट लें और गूदे को एक कटोरे में निकाल लें।
  • एक कटोरे मे मैदा के सान कर रख दे।
  • इसके बाद ख़ुरमा के गूदे को चिकना होने तक मले करें।
  • अब एक कटोरे में, आटा, चीनी, बेकिंग सोडा, दालचीनी, जायफल और नमक मिलाएं।
  • इसके साथ अन्य कटोरे में, दूध, अंडे, पिघला हुआ मक्खन को भी अच्छी तरह से मिला कर फेंटें।
  • इसके बाद धीरे-धीरे गीली मिश्रण को सूखी मिश्रण में मिलाएं, जब तक कि बस मिल ना जाए।
  • समान रूप से वितरित होने तक मैश किए हुए ख़ुरमा के गूदे को बैटर में मोड़ें
  • तैयार बेकिंग डिश या पुडिंग मोल्ड में बैटर डालें, ऊपर से स्पैटुला से चिकना करें।
  • लगभग 45-50 मिनट के लिए पहले से गरम ओवन में बेक करें, या जब तक कि टूथपिक बीच में न डाला जाए, तब तक वह साफ बाहर आ जाए।
  • ओवन से निकालें और परोसने से पहले इसे कुछ मिनट के लिए ठंडा होने दें।
  • ख़ुरमा पुडिंग को गर्म या ठंडा परोसें, और स्वादिष्ट मिठाई का आनंद लें!

इसे भी पढ़े:-

खुरमा के फायदे (Benefits of persimmon in Hindi)

खुरमा बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके बारे में पूरी जानकारी हम नीचे दे रहे है। आप इसे पुरा पढ़े

1. मर्दाना ताकत के लिए खुरमा के फायदे

ख़ुरमा विटामिन ए, सी, और ई के साथ-साथ पोटेशियम और मैंगनीज जैसे खनिजों से भरपूर होता है। ये पोषक तत्व समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने मे मदद करते है। साथ ही शात मर्दाना शक्ति को भी बढ़ाते हैं। ख़ुरमा में बीटा-कैरोटीन और लाइकोपीन जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो मुक्त कणों के कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव से कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद करते हैं। यह एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि प्रजनन अंगों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देते है। ख़ुरमा फाइबर का एक अच्छा स्रोत होता है, जो पाचन में सहायता करता है। एक स्वस्थ पाचन तंत्र प्रजनन स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण होता है।

2. आंखों के लिए खुरमा के फायदे

ख़ुरमा विटामिन ए का एक अच्छा स्रोत माना जाता है, जो आखो के लिए आवश्यक है। विटामिन ए आंख के रेटिना में पाए जाने वाले वर्णक रोडोप्सिन को कम करने मे मदद करता है। ख़ुरमा में विटामिन सी, विटामिन ई और बीटा-कैरोटीन जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट आंखों की कोशिकाओं को हानिकारक पहुचाने वाले मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करते हैं। इसक मे विशेष रूप से ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन, मैक्युला पाये जाते है तो आँखो के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं,। ये एंटीऑक्सिडेंट हानिकारक नीली रोशनी को फ़िल्टर करने में मदद करते हैं।

3. हृदय स्वास्थ्य के लिए खुरमा खाने के फायदे

जैसा की हमने उपर बताया कि ख़ुरमा फाइबर का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। फाइबर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है और हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके साथ -साथ इसमें विभिन्न एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जैसे कि विटामिन सी और फेनोलिक यौगिक। ये एंटीऑक्सिडेंट शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव और सूजन से लड़ने में मदद करते हैं, जो हृदय रोग के जोखिम को कम करने मे मदद करते हैं।

4. मस्तिष्क के लिए खुरमा के फायदे

ख़ुरमा में विटामिन सी और फेनोलिक यौगिक जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो मस्तिष्क सहित शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने मे मदद करते हैं। इसमे पाये जाने वाले डोपामाइन और सेरोटोनिन सहित न्यूरोट्रांसमीटर के उत्पादन के लिए आवश्यक है। न्यूरोट्रांसमीटर मूड, भावनाओं और संज्ञानात्मक कार्य को विनियमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। विटामिन सी का पर्याप्त स्तर मस्तिष्क विकास के लिए महत्वपूर्म भूमिका निभाता है।

खुरमा खाने के नुकसान (Side Effects of persimmon Hindi)

ख़ुरमा के खाने से हमें फायदे और नुकसान दोनों होते हैं नीचे हमने स्टारफ्रूट के खाने से कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

  • कुछ व्यक्तियों को ख़ुरमा खाने से एलर्जी हो सकती है। एलर्जी मे हल्के खुजली या पित्ती से लेकर सांस लेने में कठिनाई जैसी अधिक गंभीर समस्या देखने को मिल सकती है।
  • ख़ुरमा में ऑक्सालेट्स होते हैं। ऑक्सालेट गुर्दे मे पथरी वाले व्यक्तियों मे खतरा बढ़ सकता है।

इसे भी पढ़े:-

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.) खुरमा का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

Answer:- ख़ुरमा का वैज्ञानिक नाम  Diospyros है।

2.) ख़ुरमा फल को भारत में क्या कहते हैं?

Answer:- ख़ुरमा फल को भारत मे जापानी फल के नाम से जाना जाता है।

3.) भारत में ख़ुरमा फल की कीमत क्या है?

Answer:- भारत में ख़ुरमा फल की कीमत लगभग 200- 250 रुपये/किग्रा

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !