Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

Mandi Bhav: काबुली चने के दाम 7 वे आसमान पर, अन्य दाल में भारी गिरावट

Mandi Bhav: काबुली चने के दाम 7 वे आसमान पर, अन्य दाल में भारी गिरावट – इंदौर के हलचल भरे शहर में, जहां मसालों की सुगंध और व्यापारियों की बातचीत से हवा भर जाती है, मंडी भाव, या बाजार की कीमतें, बहुत रुचि और महत्व हैं। यह लेख आपको इंदौर के कृषि बाजार में हाल के उतार-चढ़ाव की जानकारी लेकर आया है, और आवश्यक वस्तुओं की कीमतों को प्रभावित करने वाले कारकों पर प्रकाश डालता है।

काबुली चने की कीमतें बढ़ रही हैं

इंदौर मंडी भाव में उल्लेखनीय घटनाओं में से एक काबुली चने की कीमतों में उछाल है। हाल ही में रविवार को, कीमतों में लगभग 200 रुपये प्रति क्विंटल की पर्याप्त वृद्धि देखी गई। इस उछाल को कम कीमतों पर बिक्री की वापसी और आवक में कमी के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।

बाजार के व्यापारियों का सुझाव है कि यह वृद्धि मुख्य रूप से आने वाले त्योहारी सीजन के कारण है, जो आम तौर पर घरेलू मांग में वृद्धि का कारण बनती है। इसके अतिरिक्त, निर्यातकों से खरीद से मौजूदा कीमतों में और बढ़ोतरी की उम्मीद है।

दालों की सुस्त खरीदारी

काबुली चने की बढ़ती कीमतों के उलट इंदौर मंडी में दालों की खरीदारी सुस्त बनी हुई है. पर्याप्त स्टॉक से लैस कई मिलें कीमतें कम करके अपने उत्पाद बेचने का सहारा ले रही हैं। इसके परिणामस्वरूप कीमतों में उल्लेखनीय गिरावट आई है, मूंग दाल, मूंग मोगर, उड़द मोगर और चना दाल सभी में 100 रुपये की कमी देखी गई है।

दाल बाजार में यह सुस्ती चिंताजनक है, क्योंकि यह किसानों और उपभोक्ताओं दोनों को प्रभावित करती है, जो दाल व्यापार को पुनर्जीवित करने के लिए रणनीतियों की आवश्यकता पर प्रकाश डालती है।

चने की कीमतें

भारतीय व्यंजनों में प्रमुख चना, इंदौर मंडी में अपनी तरह की चुनौतियों का सामना कर रहा है। कमजोर उठाव के कारण कीमतों में गिरावट आ रही है, दरें 6100 रुपये से नीचे और 6150 रुपये से ऊपर के बीच झूल रही हैं। सौभाग्य से, अन्य दालों में कारोबार अपेक्षाकृत स्थिर रहा है, जिससे बाजार में आशा की किरण जगी है।

मंडी टैक्स की दर मे कमी

व्यापार को बढ़ावा देने और किसानों और व्यापारियों को राहत प्रदान करने के उद्देश्य से, मध्य प्रदेश सरकार ने मंडी कर की दर को कम करने के लिए एक अधिसूचना जारी की है। पहले यह 1.5 प्रतिशत पर था, अब इसे और अधिक अनुकूल एक प्रतिशत पर ला दिया गया है। इस निर्णय से इंदौर मंडी के समग्र व्यापारिक माहौल पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने की उम्मीद है।

कंटेनरों में डॉलर चने की कीमत

इंदौर मंडी भाव में कंटेनरों में डॉलर चने की कीमतों में भी उतार-चढ़ाव देखा गया है। विभिन्न श्रेणियों के लिए प्रति क्विंटल दरें इस प्रकार हैं:

  • 40/42: रु. 16500
  • 42/44: रु. 16300
  • 44/46: रु. 16100
  • 58/60: रु. 14700
  • 60/62: रु. 14600
  • 62/64: रु. 14500

दाल की कीमत की मुख्य बातें

इंदौर मंडी में दाल की कीमतों पर करीब से नज़र रखने वालों के लिए, यहां कुछ प्रमुख आंकड़े दिए गए हैं:

  • चना कांटा: रु. 6100-6150
  • विशाल: रु. 5950
  • डंकी: रु. 5300-5500
  • मसूर: रु. 6300
  • तुवर महाराष्ट्र सफेद: रु. 11400-11600 (कर्नाटक: रु. 11700-11900)
  • निमाड़ी तुवर: रु. 9500-11300
  • मूंग: रु. 8700-8800 (बारिश मूंग नई: 9400 रुपये)
  • उड़द: रु. 9700 (औसत 7000-8000, सर्वोत्तम 9000, मध्यम 6500-7500, हल्का 3000-5000 प्रति क्विंटल)

अन्य दाल की कीमतें

  • यहां विभिन्न दालों की कीमतों का विवरण दिया गया है:
  • चना दाल: रु. 8000-8100 (मध्यम: रु. 8200-8300, सर्वोत्तम: रु. 8400-8500)
  • मसूर दाल: रु. 7700-7800 (सर्वोत्तम: रु. 7900-8000)
  • मूंग दाल: रु. 10500-10600 (सर्वोत्तम: रु. 10700-10800)
  • मूंग मोगर: रु. 11300-11400 (सर्वोत्तम: रु. 11500-11600)
  • तुअर दाल: रु. 13300-13400 (मध्यम: रु. 14200-14300, बेस्ट: रु. 14700-14900, ए. बेस्ट: रु. 15800-15900, ब्रांडेड तूर दाल: रु. 16300)
  • उड़द दाल: रु. 10400-10500 (बेस्ट: रु. 10600-10700, उड़द मोगर: रु. 10700-10800, बेस्ट: रु. 10900-11000)

Also Read 

Today Mandi Bhav 2023 : krishidost.com ने इस लेख मे आपके लिए दाल के Mandi Bhav के ताजा भाव क्या चल रहे है। इसके बारे में पुरी जानकारी दी है। यह भाव व्यापारियों तथा अन्य मिडिया स्त्रोत से लिए गये है। आप अपना आनाज भेचने से पहले मंडी समिती से भाव की पुष्टी जरुर करा ले। आशा करता हूँ की यह जानकारी आप के लिए उपयोगी रही होगी।

FAQs

1.) इंदौर मंडी में काबुली चने के दाम क्यों बढ़ रहे हैं?

Ans:- काबुली चने की कीमतों में बढ़ोतरी का कारण कम कीमतों पर बिकवाली की वापसी और आगामी त्योहारी सीजन के दौरान घरेलू मांग बढ़ने की उम्मीद को माना जा सकता है। इसके अतिरिक्त, निर्यातकों से खरीद मूल्य वृद्धि में योगदान दे रही है।

2.) बाजार में अन्य दालों का प्रदर्शन कैसा है?

Ans:- जबकि मूंग दाल और चना दाल जैसी कुछ दालों की कीमतों में गिरावट देखी गई है, अन्य अपेक्षाकृत स्थिर बनी हुई हैं। विशिष्ट दाल किस्मों के लिए बाज़ार के रुझानों पर बारीकी से नज़र रखना महत्वपूर्ण है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !