Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

बैंगन का वैज्ञानिक नाम, फायदे, नुकसान, बनने वाले पकवान

बैगन भारत में ही पैदा हुआ था। आलू के बाद बैगन ही सबसे ज्यादा उपयोग की जाने वाली सब्जी के रूप में जाना जाता है। पूरी दुनिया में भारत बैगन पैदावार में दूसरे स्थान पर आता है। जबकि पहले स्थान पर चीन है। भारत देश में लगभग 5 से 6 हेक्टेयर क्षेत्रफल में बैगन की खेती की जाती है। बैंगन का पौधा लगभग 2 से 3 फीट ऊंचा होता है। बैगन कई प्रकार के होते हैं लंबा, गोलकार, अंडाकार होते हैं। इसकी खेती भारत में प्राचीन काल से ही की जा रही है। ऊंचाई वाले स्थान को छोड़कर भारत में लगभग सभी राज्यों में इसकी खेती की जाती है। इसकी खेती के लिए बलुई दोमट सबसे अच्छी मिट्टी मानी जाती है। आइए जानते हैं बैगन से संबंधित जुड़ी हुई कुछ खास बातें। जो श्याद आप नही जानते होगें।

बैंगन का वैज्ञानिक नाम एवं कुल (brinjal Scientific Name in Hindi )

बैगन का वैज्ञानिक नाम Solanum Melongena (सोलानम मेलोन्गेना) है। बैगन के कुल का नाम सोलेनेसी (Solanaceae) के रूप में जाना जाता है। बैगन का अधिक उपयोग सब्जी के रूप में किया जाता है। बैगन की खेती लगभग हर सीजन मे किया जाता है। पौधों को खेत में करने से पहले खेत मे मिट्टी में सड़ी गोबर की खाद तथा अमोनियम सल्फेट उर्वरक प्रयुक्त किया जा सकता हैं। प्रति एकड़ चार गाड़ी गोबर की खाद डाल सकते है। वही बैगन औषधि के रूप में भी काम करता है। बैगन के उपयोग से कई प्रकार की बीमारियों में लाभदायक होता है।

बैंगन का निर्मित पकवान

भारत सहित पुरे विश्व में बैगन का सब्जी के रुप मे अधिक उपयोग होता है। बैगन से कई प्रकार के रेसिपी बनाई जाती है। बैगन की मसालेदार तरकारी या सब्जियां बनती हैं। भारत में बैगन के पकौडे, भरवा बैंगन से लेकर अचार, सब्जी सहित कई प्रकार की रेसिपी बनाई जाती है। जो भारतीयों को बहुत ही पसंद होता है। बैगन का उपोयग करके बनने वाली कुछ प्रमुख रेसिपीयाँ हैं जिन्हें आप नाश्ता या भोजन के साथ ले सकते हैं। जैसे-

  • बैगन भर्ता
  • बैगन मुसल्लम
  • बैगन चटनी
  • बैगन कटलेट
  • बंगाली बैगन भाजा
  • आलू बैगन
  • भरवा बैगन
  • अचारी बैंगन

बैंगन का उपयोग

बैगन का उपयोग अधिकत्तर सब्जी, चोखा, पकौड़े बहुत ही चाव खाया जाता है। बैगन कई प्रकार की औषधीय गुणों से भरपूर है यह हमारे स्वास्थ्य संबंधित कई प्रकार की बीमारियों को बचाने में मदद करता है। बैगन खाने के बहुत सारे फायदे हैं जिसकी पूरी जानकारी हम नीचे दे रहे हैं। बैंगन में विटामिन-सी, विटामिन-ई और विटामिन-ए के साथ-साथ फैटी एसिड भी पाए जाते हैं। बैगन का सेवन करने से व्यक्ति का स्वस्थ रहता है लेकिन किसी भी बीमारी का पूर्ण इलाज नहीं है। चलिए आपको बताते हैं कि बैगन खाने से शरीर में किस प्रकार के फायदे और नुकसान दोनों के बारे में पूरी जानकारी देंगे तो आप हमारे साथ बने रहें और बैगन के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करें।

इसे भी पढ़े:-

बैंगन के फायदे (Benefits of brinjal in Hindi)

बैगन की सब्जी जब घर में बनती है तो घर के कुछ लोगों को इसकी सब्जी बिल्कुल पसंद नहीं आती है। लेकिन बैगन कि सब्जी का स्वाद हमें अच्छा नहीं लगता उससे आपको कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए। लेकिन उसमें इतने सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं। जो हमारे शरीर को के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। इसे पसंद ना पसंद करने से कोई मतलब नहीं है आपको बैगन को खाना चाहिए। जो हमारे शरीर की तकलीफों को दूर करने में मदद करते हैं। बैगन से त्वचा, बाल, आंखों के लिए भी बहुत ही लाभकारी खाद्य पदार्थ है। नीचे कुछ और बैगन के फायदे बताए गए हैं उसे पढ़ें।

  • बैगन में विटामिन ए, विटामिन सी और बी के साथ पॉलीफेनोलिक कंपाउंड पाए जाते हैं। जो कि शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते हैं और हृदय स्वास्थ्य के लिए एक उत्तम विकल्प के रूप में बैगन का इस्तेमाल किया जाता है।
  • बैगन का उपयोग मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही फायदेमंद होता है। क्योंकि इसमें आयरन जिंक और विटामिन ए, बी, सी की मात्रा पाई जाती है। ऐसा माना जाता है कि बैंगन के सेवन से इंसान को खुशी की भावना जागृत होती है। उनका उसका दिमाग अच्छी तरह से कार्य करता है इसीलिए बैगन को याददाश्त बढ़ाने में भी सहायक माना जाता है।
  • बैंगन में एक ऐसा गुण पाया जाता है। यह धूम्रपान छोड़ने में भी काफी मदद करता है। हालांकि इस पर अभी कोई रिसर्च नहीं हुई है। बता दें कि 100 ग्राम बैंगम में करीब 0.01 मिलीग्राम निकोटीन पाया जाता है। हालांकि यह सिगरेट पीने वालों के लिए निकोटिन की मात्रा काफी कम होता है। लेकिन यह धूम्रपान छोड़ने में आपकी मदद कर सकती है।
  •  शरीर में पाचन तंत्र का सही रहना बहुत ही आवश्यक होता है इसमें बैगन काफी मदद करता है। क्योंकि बैगन में कुछ ऐसे पदार्थ पाए जाते हैं जो शरीर के पाचक रसों को प्रेरित करते हैं और वह भोजन पचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसलिए बैगन का उचित रूप में उपयोग पाचन प्रक्रिया को सुधारने में भी किया जा सकता है।
  •  अगर आप मोटापे से परेशान हैं और अपना वजन घटाने की कोशिश कर रहे हैं तो बैगन आपके इस कार्य मे मदद कर सकता है। क्योंकि 100 ग्राम बैगन में 92 ग्राम पानी पाया जाता है। जो हमारी फैट की मात्रा को कम करने में मदद करता है साथ ही साथ बैगन में कुछ मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो कि मोटापे की समस्या को कम करने में मदद करता है वही एक शोध में जानकारी के अनुसार बैगन कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रण करने में मदद करता है।
  • बैगन एक प्रतिरोधी क्षमता के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में काफी मदद करता है क्योंकि इसमें विटामिन ए, सी, डी, ई, बी-2, बी-6, बी-12 फोलिक एसिड, आयरन, सेलेनियम और जिंक सहित कई विटामिंस पाए जाते हैं। जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं और शरीर में हुए रोगों से लड़ने में मदद करते हैं।
  •  विटामिन बी की कमी से मुख्य रूप से एनीमिया की समस्या होती है जोकि आयरन और फोलेट की पूर्ति के बाद ही यह सही होता है और यह दोनों बैगन में पाए जाते हैं इसलिए बैगन को एक औषधि गुण एनीमिया के जोखिमों को कम करने में मदद करता है।
  • शरीर में उर्जा के लिए कम वसा वाले भोजन की आवश्यकता होती है। बैगन औषधि गुण से भरपूर हैं। इसके के सेवन से ऊर्जा बढ़ती है। बैगन में वसा न होने के कारण यह हमारी सेहत के लिए काफी अच्छा फायदा करता है और ऊर्जा प्रदान करता है।
  • बैगन में कैल्शियम और पोटेशियम की मात्रा पाई जाती है जो कि शरीर में कमजोर हड्डियों को मजबूत करने में मदद करती इसीलिए बैगन का उपयोग करना चाहिए जिससे हमारी हड्डियां भी मजबूत हो और बुढ़ापे में मदद मिल सके।

बैंगन के नुकसान (Side Effects of brinjal in Hindi)

बैगन का उपयोग अधिकत्तर सब्जी, चोखा, पकौड़े मे अधिक उपयोग किया जाता है। इसका लोग अपनी पसंद के हिसाब से उपयोग करते हैं लेकिन कुछ परिस्थितियों में यह हमारे लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए आपको बैगन का उतना ही उपयोग करना चाहिए जिससे आप को कोई समस्याओं का सामना ना करना पड़े। खीरे के खाने से हमें फायदे और नुकसान दोनों होते हैं नीचे हमने बैगन के कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

  •  कुछ लोगों को बैगन खाने से एलर्जी की समस्या देखी गई है ऐसे में अगर आपको किसी भी प्रकार की समस्या होती है आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने के बाद ही बैगन का उपयोग करें।
  •  बैगन पाचन क्रिया में सुधार के लिए जाना जाता है लेकिन कभी-कभी इसके अधिक सेवन से पेट में जलन की समस्या देखी गई है।
  • अगर किसी को लो ब्लड प्रेशर की समस्या है तो वह बैगन के नियमित उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें इसके बाद ही बैगन का उपयोग करें
  • ब्लड शुगर कम होने की समस्या वाले लोग भी इसका सेवन कम करना से बचना चाहिए।

यहां हमने बैगन से संबंधित कुछ जानकारियां इस लेख में बताई हैं बैगन हम सब सामान्य रूप से उपयोग करते हैं और इसका अत्यधिक सेवन नहीं करना चाहिए जिससे कि किसी प्रकार की समस्या का कारण बने। अगर आपको किसी प्रकार की कोई समस्या होती है तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही उपयोग करें। आशा करता हूं कि आज हमने बैगन के बारे में जो आपको जानकारियां प्रदान की है वह आपके लिए काफी मददगार साबित हुई होंगी। ऐसे ही जानकारियों के लिए हमारे साथ जुड़े रहे। धन्यवाद

इसे भी पढ़े:-

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.) बैंगन का वैज्ञानिक नाम और कुल क्या है ?

Answer:-बैगन का वैज्ञानिक नाम Solanum Melongena (सोलानम मेलोन्गेना) है।

2.) बैंगन में कौन से विटामिन पाए जाते हैं?

Answer:- विटामिन ए, सी, डी, ई, बी-2, बी-6, बी-12 फोलिक एसिड, आयरन, सेलेनियम और जिंक पाये जाते है।

3.) बैंगन की खेती के लिए किस प्रकार की मिट्टी सबसे अच्छी होती है?

Answer:- खीरे के लिए दोमट मिट्टी को सबसे उपयोगी मिट्टी माना जाता है, लेकिन उचित जल निकासी आवश्यक है। पौधों को खेत में करने से पहले खेत मे मिट्टी में सड़ी गोबर की खाद तथा अमोनियम सल्फेट उर्वरक प्रयुक्त किया जा सकता हैं।

4.) बैंगन से बनी कुछ रेसिपीयाँ क्या हैं?

Answer:- बैंगन से कई प्रकार के रेसिपी बनाई जाती है। बैंगन से कई प्रकार की मसालेदार तरकारी या सब्जियां बनती हैं। भारत में बैगन भर्ता, बैगन मुसल्लम, बैगन चटनी, बैगन कटलेट, बंगाली बैगन भाजा, आलू बैगन ,भरवा बैगन ,अचारी बैंगन सहित कई प्रकार की रेसिपी बनाई जाती है।

5.) बैंगन वजन घटाने में कैसे मदद कर सकता है?

Answer:-बैंगन कैलोरी में कम और पानी की मात्रा में उच्च होता है, क्योंकि 100 ग्राम बैगन में 92 ग्राम पानी पाया जाता है। जो हमारी फैट की मात्रा को कम करने में मदद करता है साथ ही साथ बैगन में कुछ मात्रा में फाइबर पाया जाता है।

6.) क्या बैगन धूम्रपान छोड़ने मे मदद करता है?

Answer:- बैंगन में एक ऐसा गुण पाया जाता है। यह धूम्रपान छोड़ने में भी काफी मदद करता है। हालांकि इस पर अभी कोई रिसर्च नहीं हुई है। बता दें कि 100 ग्राम बैंगम में करीब 0.01 मिलीग्राम निकोटीन पाया जाता है। हालांकि यह सिगरेट पीने वालों के लिए निकोटिन की मात्रा काफी कम होता है।

7.) क्या बैंगन खाने से पाचन संबंधी समस्याओं में मदद मिल सकती है?

Answer:-हां, बैंगन में उच्च पानी और फाइबर सामग्री पाचन में सुधार और कब्ज और सीने में जलन जैसी समस्याओं को कम करने में मदद कर सकती है।

8.) क्या बैंगन के सेवन से कोई स्वास्थ्य संबंधी हो सकती है?

Answer:- हाँ, कुछ परिस्थितियों में यह हमारे लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए आपको बैंगन का उतना ही उपयोग करना चाहिए जिससे आप को कोई समस्याओं का सामना ना करना पड़े। इसके अतिरिक्त, कुछ लोगों को बैंगन से एलर्जी हो सकती है और इससे बचना चाहिए।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !