Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

करेला का वैज्ञानिक नाम, फायदे, नुकसान, बनने वाले पकवान

करेला का वैज्ञानिक नाम, scientific name of bitter gourd करेला के फायदे, नुकसान, बनने वाले पकवान करेला के नुकसान करेला के फायदे और नुकसान करेला खाने के फायदे व नुकसान करेला की रेसिपी – करेला की उत्पत्ति भारत देश में हुई है। 14 वीं शताब्दी में इसको चीन में पेश किया गया था। एशिया मे दक्षिण एशिया , पूर्व एशिया में इसके व्यंजनों का अधिक रूप में उपयोग किया जाता है। करेले का स्वाद कड़वा होता है लेकिन यह शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। करेला एक शाखा युक्त वनस्पति है। यह अधिक रेशेदार होता है और यह बेल के ऊपर चढ़कर फल देता है। करेले का कई प्रकार से उपयोग होता है करेले का सब्जी, जूस के साथ-साथ इसके बीजों का आयुर्वेद में कई प्रकार की दवाइयों के रूप में उपयोग किया जाता है। जो शरीर में बहुत ही फायदेमंद होता है। करेला खाने से शरीर में अधिकत रोग खत्म हो जाते है। आज हम इस लेख में आपको बताएंगे कि करेला के karele Ke Upyog से शरीर में क्या क्या लाभ होता है। करेला का उपयोग जूस सब्जियों मे अधिक किया जाता है। साथ ही साथ आप को बताएंगे की करेला का वैज्ञानिक नाम, फायदे, नुकसान, बनने वाले पकवान। जो श्याद आप नही जानते होगें।

करेला का वैज्ञानिक नाम एवं कुल (Bitter Gourd Scientific Name in Hindi )

  • करेला का वैज्ञानिक नाम मोमोर्दिका चारैन्टिया कुकुरबिटेसी ( Cucurbitaceae) है।
  • करेला कुकुरबिटेसी कुल की एक प्रजाति है।
  • करेले को अंग्रेजी में बिटर मेलन और बिटर गॉर्ड के नाम से भी जाना जाता है।
  • इसको बंगाली में कॉरोला, कन्नड़ में हगालाकायी और हिंदी में करेला कहा जाता है।
  • इसका स्वाद कड़वा होता है। लोग आसानी से इसके नही खा पाते है।
  • करेला पुराने समय से ही औषधीय के रुप मे सब्जी के रूप में अधिकतर उपयोग किया जाता है
  • करेला की स्वादिष्ट सब्जी कैसे बनाई जाती है। आइये जानते हैं करेला की रेसिपी के बारे में

करेला की रेसिपी

करेला तो लगभग सभी के घर में इस्तेमाल किया जाता है। करेला सेहत के लिए रामबाण माना जाता है करेला खाने से शरीर के कई रोग खत्म हो जाते है। करेला का आम तौर पर लोग जूस, सब्जी के रुप मे उपयोग करते है। आज हम आपको करेला की सब्जी बनाना बताएंगे बिना कडवा लगे करेले और प्याज की स्वादिष्ट सब्जी कैसे बनाये जिसके लिए आपको बहुत ज्यादा सामग्री जुटाने की जरूरत नहीं है और बहुत ही कम समय में करेला की सब्जी बनाकर तैयार कर सकते है।

करेला की सब्जी बनाने के लिए सामान

  • करेला
  • सरसो का तेल
  • लहसुन
  • जीरा
  • नींबू का रस
  • प्याज
  • पानी
  • अदरक बारीक कटा
  • हल्दी
  • नमक
  • लाल मिर्च पाउडर
  • गुड़
  • हरी मिर्च
  • तेल
  • सौंफ
  • धनिया पाउडर

करेला की सब्जी बनाने का आसान तरीका

  • सबसे पहले आपको करेले को पानी में अच्छी तरह से धो लेना है और उपर की छिलके को चाकू से साफ कर देना है।
  • अब करेले को बीच से काटकर उसकी बीज को निकाल कर एक प्लेट में रख लीजिए।
  • इसके बाद एक छोटे से चम्मच में नमक लेकर करेले में मिलाकर आधा घंटा तक उसे रख दीजिए।
  • अब दुबारा से आपको करेले को पानी में अच्छे से धो देना है अच्छे से धोने के बाद उसे एक प्लेट में रख लीजिए।
  • इसके बाद प्याज, हरी मिर्च, लहसुन और आदरक, को बारिक से काट लिजिए।
  • कराही में आपको तेल डालकर उसे हल्का गर्म करना है तेल जब हल्का गर्म हो जाए।
  • तो उसमें जीरा और राई डालें, इसके बाद प्याज और हरी मिर्च डालकर हल्का सा ब्राउन होने तक उसे भूने।
  • जब प्याज हल्का लाल हो जाए तो उसमें करेला डालिए और कम से कम 5 से 6 मिनट तक उसे पकाइएँ।
  • इसके बाद उसमें लाल मिर्च, हल्दी पाउडर ,धनिया पाउडर, नमक डालकर अच्छे से मिक्स करके 5 मिनट तक पकाएं।
  • 5 मिनट पकने के बाद करेले को एक बार चेक करें अगर करेला अच्छे से पक गया है तब उसमें आमचूर पाउडर और गुड मिला दीजिए।
  •  इसके बाद 2 से 3 मिनट तक पकाएँ और अब आपकी करेले की सब्जी तैयार हो गई है।
  • बिना कड़वी लगी करेले और प्याज की सब्जी को प्लेट में निकाले है और रोटी या पराठे के साथ खा सकते हैं।

करेला का उपयोग

करेले का कई तरह से उपयोग किया जाता है जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। करेले मे अधिक मात्रा मे औषधि गुण पाया जाता हैं। करेले का स्वाद कड़वा होता है। करेले को कच्चा खाएं या पका कर खाये दोनो हमारे लिए औषधि के रुप मे काम करता है। जो हमारे स्वास्थ्य को बेहतर करने में मदद करता है। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व भी पाए जाते हैं।

  • करेले का अधिक उपयोग सब्जी बनाने में किया जाता है।
  • करेले का उपयोग आचार भी बनाने में उपयोग किया जाता है।
  • कई बीमारियों में करेले का जूस रामबाण का काम करता है।
  • करेले का रस बालों में भी लगाने के उपयोग में लाया जाता है।

चलिए आपको बताते हैं कि करेले खाने से शरीर में किस प्रकार के फायदे और नुकसान होने है, दोनों के बारे में पूरी जानकारी देंगे तो आप हमारे साथ बने रहें और करेले के बारे मे पूरी जानकारी नीचे प्राप्त करें।

इसे भी पढ़े:-

करेला के फायदे (Benefits of Bitter Gourd in Hindi)

अगर आप भी करेले नहीं खाते हैं तो यह पढ़ने के बाद आप जरूर करेले खाना शुरू कर देंगे, क्योंकि करेले में कई प्रकार के औषधि गुण पाए जाते हैं जो हमें स्वस्थ रखने के लिए काफी मदद करते हैं। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि करेले में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं उसमें विटामिन सी, मैंगनीज , थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, कैल्शियम और अमीनो एसिड भी पाए जाते हैं। करेले बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके बारे में पूरी जानकारी हम नीचे दे रहे है। आप इसे पुरा पढ़े

1. करेले मधुमेह रोगियो के लिए 

करेले का जूस और करेला मधुमेह रोगियों के लिए रामबाण की तरह कार्य करता है। एनसीबीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार करेले में anti-diabetic गुण पाया जाता है। जो ब्लड शुगर को कम करने में मदद करता है। इसका प्रयोग कई प्रकार के जानवरों पर भी किया गया है। जिसका प्रभाव बहुत ही कारगर साबित देखा गया है। करेले का घरेलू उपयोग करने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

2. मोटापा कम करने के लिए

मोटापा कम करने के लिए करेला बहुत ही फायदेमंद कार्य करता है। वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार करेले के फायदे में वजन कम करना एक प्रभावी गुण पाया जाता है। करेले में एंटी ओबीसीटी गुड़ पाया जाता है जिसके वजह से वजन में रुकावट देखी गई है साथ ही साथ लिपिड मेटाबॉलिज्म मे भी बढ़ोतरी पाई गई है।

3. लिवर के लिए करेले के फायदे

करेला लिवर के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। चूहों पर एक रिसर्च के अनुसार लीवर को सुरक्षित रखने के लिए हेपेटोप्रोटेक्टिव (Hepatoprotective) गुण होना जरूरी होता है। अधिक फैटी लीवर होने के कारण शरीर में कई प्रकार की बीमारियां होती है। ऐसा देखा गया है कि फैटी लीवर अधिक शराब के सेवन करने से होता है। करेले में अर्क ऑक्सीडेटिव तनाव और सूजन को कम करने की क्षमता होती होती है। एक अन्य रिसर्च में करेला फैट के जमाव को रोकने में बहुत ही मददगार साबित होता है।

4. हृदय संबंधी मरीजों के लिए करेले के फायदे

करेला हृदय संबंधी रोगियों के लिए बहुत ही लाभकारी साबित होता है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से हृदय संबंधी रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके लिए हृदय संबंधित रोगियों को करेले का सेवन करना चाहिए। अगर आप हृदय से किसी रोग से परेशान है। तो आप को अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही करेले का उपयोग करना चाहिए। क्योंकि अभी तक मनुष्यों पर इसका रिसर्च नहीं हुआ है।

5. कब्ज रोगियों के लिए

कब्ज की समस्या होने पर मल त्यागने में बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। यह एक पेड़ से जुड़ी हुई समस्या होती है। करेला इसके लिए रामबाण साबित होता है। एनसीबीआई की रिपोर्ट के अनुसार करेले के पत्तों का अर्क मल त्याग को आसान बनाकर कब्ज से निजात दिलाने में मदद कर सकता है।

6. आँखो के लिए करेला के फायदे

करेला आंखों के लिए बहुत ही लाभकारी माना गया है एक रिसर्च के अनुसार करेला में beta-carotene की मात्रा पाई जाती है जो आंख की बीमारियों को बचाने में मदद करती है साथ ही साथ यह आंखों की रोशनी बढ़ाने में भी मदद करती है।

7. सूजन के लिए

करेले में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जिससे सूजन होने की समस्या से बचा जा सकता है सूजन होने की समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करता है लेकिन अभी तक इस पर रिसर्च नहीं हुआ है।

8. त्वचा के लिए करेल का उपयोग

करेला त्वचा के लिए बहुत ही लाभकारी माना गया है एसबीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार खरगोश पर किए गए रिसर्च पर करेले का अर्क आयुक्त स्किन क्रीम घावों के लिए बहुत ही असरदार साबित हो सकता है जिन खरगोशों पर इस क्रीम का इस्तेमाल किया गया था उनके घाव में तेजी से सुधार देखा गया था। करेले मे विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है। हालांकि अभी मनुष्यों पर इसका रिसर्च करना बाकी है।

करेला के नुकसान (Side Effects of Bitter Gourd in Hindi)

करेला का उपयोग अधिकत्तर सब्जी, जूस के रुप मे उपयोग किया जाता है। इसका लोग अपनी पसंद के हिसाब से उपयोग करते हैं लेकिन कुछ परिस्थितियों में यह हमारे लिए हानिकारक हो सकता है इसलिए आपको करेला का उतना ही उपयोग करना चाहिए, जिससे आप को कोई समस्याओं का सामना ना करना पड़े। करेला के खाने से हमें फायदे और नुकसान दोनों होते हैं नीचे हमने करेला के खाने से कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

  • करेले का सेवन गर्भवती महिलाओं को नहीं करना चाहिए क्योंकि करेले में कुछ ऐसे तत्व भी पाए जाते हैं जो गर्भावस्था में उनके लिए समस्या का कारण बन सकते हैं।
  •  गर्भावस्था के साथ-साथ स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी करेले के सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि अकेले में कुछ विषाक्त के तत्व पाए जाते हैं जो स्तनपान कराने वाली मां से उनके शिशु में जा सकते हैं।
  • मधुमेह रोगियों को करेले का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए करेला ब्लड शुगर को कभी-कभी मात्रा से ज्यादा कम कर देता है जो आपकी नुकसान हो सकता है।
  • कई लोगों में देखा गया है कि करेले के अधिक सेवन करने से उनके पेट की समस्या बढ़ गई है जैसे दस्त, गैस, ऐंठन और आंतों में सूजन की समस्या देखी गई है।
  • 1 दिन में कितनी करेले खा सकते है कई लोग ऐसा पुछते है तो आप को बता दें की अधिक करेले खाने से आपके लिए समस्या पैदा करता है इसीलिए करेले की सीमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।

यहां हमने करेला से संबंधित कुछ जानकारियां इस लेख में बताई हैं करेला हम सब सामान्य रूप से सब्जी मे उपयोग करते हैं। लेकिन इसका अत्यधिक सेवन नहीं करना चाहिए जिससे कि किसी प्रकार की समस्या का कारण बने। अगर आपको किसी प्रकार की कोई समस्या होती है तो आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही उपयोग करें। आशा करता हूं कि आज हमने करेला के बारे में जो आपको जानकारियां प्रदान की है वह आपके लिए काफी मददगार साबित हुई होंगी। ऐसे ही जानकारियों के लिए हमारे साथ जुड़े रहे। धन्यवाद

इसे भी पढ़े:-

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.) करेला का वैज्ञानिक नाम और कुल क्या है ?

Answer:- करेला का वैज्ञानिक नाम मोमोर्दिका चारैन्टिया कुकुरबिटेसी ( Cucurbitaceae) है।

2.) करेले के क्या फायदे हैं?

Answer:- करेला खाने से शरीर की कई बीमारियां दूर हो जाती हैं। करेले में कई औषधीय गुण होते हैं और यह विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। ऐसा माना जाता है कि यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने, प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने, पाचन में सहायता करने और वजन घटाने को बढ़ावा देने में मदद करता है।

3.) मधुमेह रोगियों के लिए करेले के क्या फायदे हैं?

Answer:- करेले में एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, घर पर करेले का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।

4.) क्या करेला मोटापा कम करने में मदद कर सकता है?

Answer:- हां, करेला में मोटापा कम करने वाले गुड़ और लिपिड मेटाबोलिज्म के फायदों के कारण वजन कम करने वाले गुण पाए गए हैं।

5.) क्या करेला दिल के रोगियों के लिए फायदेमंद है?

Answer:-करेला हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकता है क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। हालांकि, अगर आपको दिल से संबंधित कोई समस्या है तो करेले का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना जरूरी है।

6.) आंखों के लिए करेले के क्या फायदे हैं?

Answer:- करेले में बीटा-कैरोटीन होता है, जो आंखों को बीमारियों से बचाने और आंखों की रोशनी में सुधार करने में मदद कर सकता है।

7.) क्या करेले के कोई नुकसान हैं?

Answer:- हाँ, करेले के विषाक्त पदार्थों होने के कारण गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। मधुमेह रोगियों को करेले का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए क्योंकि इससे रक्त शर्करा का स्तर अत्यधिक कम हो सकता है। करेले के अधिक सेवन से पेट की समस्याएं जैसे दस्त, गैस, ऐंठन और आंतों में सूजन भी हो सकती है।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !