Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

सूरजमुखी के फायदे और नुकसान, वैज्ञानिक नाम, बनने वाली रेसपी

सूरजमुखी एक प्रकार का फूल वाला पौधा है। यह अपने बड़े, चमकीले पीले फूलों के लिए जाना जाता है। जो सूर्य के आकार जैसा दिखता है। सूरजमुखी उत्तरी अमेरिका का मूल निवासी माना जाता है। और इसकी बीजों के लिए दुनिया भर में इसकी खेती की जाती है। सूरजमुखी की विशेषता उनके लंबे, मजबूत डंठल हैं जो 10 फीट (3 मीटर) तक की ऊंचाई तक हो सकते हैं। सूरजमुखी में पूरे दिन सूर्य की गति को ट्रैक करने की एक उल्लेखनीय क्षमता होती है। जिसे हेलियोट्रोपिज्म के रूप में जाना जाता है। यह घटना नये सूरजमुखी की कलियों में सबसे अधिक देखा जाता है और माना जाता है कि यह प्रकाश संश्लेषण के लिए सूर्य के प्रकाश के उनके संपर्क को अधिकतम करता है। जैसे ही फूल बड़ा होता है, यह आमतौर पर पूर्व की ओर होता है।

सूरजमुखी का वैज्ञानिक नाम एवं कुल ( Sunflower Scientific Name in Hindi )

  • सूरजमुखी का वैज्ञानिक नाम हेलियनथस एनुअस (Helianthus annuus)  है
  • यह एस्टेरसिया कुल का पौधा है।
  • सूरजमुखी की रेसिपी कैसे बनाई जाती है। आइये जानते हैं सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो कैसे बनाये

सूरजमुखी के बीज की रेसपी

सूरजमुखी के बीज सेहत के लिए अच्छा माना जाता है सूरजमुखी के बीज खाने से शरीर के कई रोग खत्म हो जाते है। आज हम आपको सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो के फायदे, सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो कैसे बनाये जिसके लिए आपको बहुत ज्यादा सामग्री जुटाने की जरूरत नहीं है और बहुत ही कम समय में सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो बनाकर तैयार कर सकते है।

सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो बनाने के लिए सामान

  • चावल(rice )
  • सब्जी शोरबा
  • सूरजमुखी के बीज (sunflower seeds)
  • प्याज (onion)
  • लौंग लहसुन (garlic, minced )
  • तेल (oil)
  • सफेद शराब ( white wine)
  • नमक और काली मिर्च (Salt and pepper )

सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो बनाने की विधि

  • सबसे पहले एक कराही में, सब्जी शोरबा को धीमी आंच पर गर्म करें और इसे उबालने के लिए रख दें।
  • एक अलग बड़े कड़ाही में, मध्यम आँच पर तेल गरम करें। जिसमे कटा हुआ प्याज और कीमा बनाया हुआ लहसुन डालें और भूनें।
  • इसके बाद चावल को कराही में डालें और प्याज़ और लहसुन के मिश्रण के साथ लगभग 1-2 मिनट तक चलाएँ, जिससे चावल थोड़ा सा भुन जाए।
  • इसके बाद सफेद शराब डाले मिलाएँ।
  • अब आँच को हल्का कम कर दें। चावल में सब्जी शोरबा डालना शुरू करें, एक बार में एक कलछुल, डाले। इस प्रक्रिया को तब तक दोहराएं जब तक कि चावल पक ना जाए, जिसमें आमतौर पर लगभग 20-25 मिनट लगते हैं।
  • जब रिसोट्टो पक रहा है, सूरजमुखी के बीजों को मध्यम आँच पर एक सूखे कड़ाही में रखें। उन्हें कुछ मिनटों के लिए तब तक भूनें जब तक कि वे सुनहरे भूरे और महकदार न हो जाएं।
  • एक बार जब चावल पक जाए और एक मलाईदार स्थिरता हो जाए। स्वाद के लिए नमक और काली मिर्च के साथ भुना हुआ सूरजमुखी के बीज को डाले और मिलाएँ।
  • इस प्रकार से सूरजमुखी के बीज रिसोट्टो तैयार है। इसे गर्मागर्म परोसें।

इसे भी पढ़े:-

सूरजमुखी के बीज के फायदे (Benefits of sunflower seeds in Hindi)

सूरजमुखी के बीज बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके बारे में पूरी जानकारी हम नीचे दे रहे है। आप इसे पुरा पढ़े

1. कोलेस्ट्रॉल के लिए सूरजमुखी के बीज के फायदे

सूरजमुखी के बीज ओमेगा -6 फैटी एसिड सहित मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड वसा से भरपूर होते हैं। ये स्वस्थ वसा एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने मे मदद करते है। सूरजमुखी के बीज फाइबर का एक अच्छा स्रोत हैं जिसमें घुलनशील और अघुलनशील फाइबर दोनों शामिल हैं। घुलनशील फाइबर, विशेष रूप से, एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है।

2. हड्डियों के लिए सूरजमुखी के बीज

सूरजमुखी के बीज मे कैल्शियम पाया जाता है जो मजबूत और स्वस्थ हड्डियों को बनाए रखने के लिए एक महत्वपूर्ण है। हड्डियों के विकास के लिए पर्याप्त कैल्शियम होना आवश्यक है, और यह ऑस्टियोपोरोसिस जैसी स्थितियों को रोकने में मदद करता है। सूरजमुखी के बीज मे मैग्नीशियम भी पाया जाता है। जो हड्डियों के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मजबूत हड्डियों को बनाने और बनाए रखने के लिए मैग्नीशियम कैल्शियम के साथ मिलकर काम करता है।

3. दिमाग के लिए सूरजमुखी के बीज फायदे

सूरजमुखी के बीज मे विटामिन ई पाया जाता है जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के रुप मे कार्य करता है जो मस्तिष्क में कोशिकाओं को मुक्त कणों के कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाने में मदद करता है। विटामिन ई के एंटीऑक्सीडेंट गुण मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बनाए रखने मे मदद करता है। इसके साथ -साथ सूरजमुखी के बीजों में फोलेट होता है। जो मस्तिष्क के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। फोलेट न्यूरोट्रांसमीटर के संश्लेषण में मदद करता है। जिसमें सेरोटोनिन, डोपामाइन और नोरेपीनेफ्राइन शामिल हैं।

4. ऊर्जा बढ़ाने के लिए सूरजमुखी के बीज फायदे

सूरजमुखी के बीज मे फाइबर होता है जो ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। फाइबर कार्बोहाइड्रेट के पाचन मे मदद करता है और रक्त शर्करा के स्तर में गिरावट करता है। अधिक स्थिर रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ावा देकर, फाइबर पूरे दिन स्थिर ऊर्जा बनाए रखने में मदद कर सकता है। साथ ही साथ सूरजमुखी के बीज में थायमिन (बी1), राइबोफ्लेविन (बी2), नियासिन (बी3), और फोलेट (बी9) सहित कई विटामिन पाये जाते हैं। वे शरीर के लिए उपयोगी ऊर्जा में कार्बोहाइड्रेट, वसा और प्रोटीन को बदलने में मदद करते हैं।

सूरजमुखी के बीज खाने के नुकसान (Side Effects of sunflower seeds Hindi)

सूरजमुखी के बीज के खाने से हमें फायदे और नुकसान दोनों होते हैं नीचे हमने सूरजमुखी के बीज के खाने से कुछ नुकसान के बारे में बताया है।

  • सूरजमुखी के बीज कैलोरी अधिक होता हैं। अधिक मात्रा में सेवन करने से वजन बढ़ सकता है।
  • सूरजमुखी के बीजों में पाए जाने वाले ओमेगा-6 फैटी एसिड शरीर के लिए आवश्यक होते हैं। लेकिन अधिक सेवन से ओमेगा-3 फैटी एसिड के सापेक्ष ओमेगा-6 का अत्यधिक सेवन दोनों के बीच संतुलन को नुकसान कर सकता है।

इसे भी पढ़े:

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.) सूरजमुखी का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

Answer:- सूरजमुखी का वैज्ञानिक नाम हेलियनथस एनुअस (Helianthus annuus)  है

2.) क्या हम सूरजमुखी के बीज रोज खा सकते हैं?

Answer:- सूरजमुखी के बीजों लगभग 30 ग्राम आप रोज सेवन कर सकते है। लेकिन रोजाना सेवन करने के लिए एक बार डाक्टर से सलहा जरुरु ले।

3.) सूरजमुखी के बीज की तासीर क्या होती है?

Answer:- सूरजमुखी के बीजों की तासीर गर्म होती है। गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन कम करना चाहिए तथा शिशु को दूध पिलाते समय इसका बिल्कुल उपयोग नहीं करना चाहिए।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !