Join WhatsApp Channel

Join Telegram Group

मधुमक्खी पालन कैसे किया जाए | मधुमक्खी पालन लोन योजना का लाभ कैसे ले

किसान भाइयों की आय में वृद्धि करने के लिए राज्य सरकार और केंद्र सरकार लगातार कई प्रकार की योजनाएं चलाती रहती है। जिससे देश के किसान आत्मनिर्भर बन सके। इन सभी योजनाओं में ज्यादातर किसानों के लिए खेती बाड़ी की योजनाएं होती है। लेकिन सरकार द्वारा एक नई स्कीम मधुमक्खी पालन योजना की भी शुरुआत की गई है।

शहद को एक औषधि के रूप में जाना जाता है और इसे उपयोग से कई प्रकार के रोग खत्म होते हैं। इन सभी को देखते हुए सरकार ने मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा है। मधुमक्खी पालन हर व्यवसाय वर्ग के किसान या व्यवसाय आसानी से कर सकते है। इसके लिए आपको क्या क्या जरूरत होती है। आज हम आपको बताएंगे मधुमक्खी पालन कैसे करें? मधुमक्खी पालन लोन योजना का लाभ कैसे ले। तथा आप प्रशिक्षण कहां से लेंगे इन सभी के बारे में पूरी जानकारी दी जा रहे हैं हमारे साथ बने रहे।

मधुमक्खी पालन व्यवसाय क्या है

मधुमक्खी का साइंटिफिक नाम एपीकल्चर है। वर्तमान समय में किसान भाई खेती के साथ-साथ बागवानी फसलों पर अधिक जोर दे रहे हैं। सरकार भी पूरी सहायता कर रही है। देश में लगातार भूमि घटती जा रही हैं। ऐसे में मधुमक्खी पालन के लिए किसानो के लिए बहुत अच्छा आय का स्रोत बनता जा रहा है।

यह एक ऐसा व्यवसाय है। जिसमें कोई भी बेरोजगार आसानी से यह कार्य कर सकते हैं। इस कार्य से कृषि और बागवानी उत्पादन बढ़ाने की क्षमता भी विकसित होती है। देश में जहां नई नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग बढ़ता जा रहा है। किसान भाई मधुमक्खियों का पालन करके शहर प्राप्त करने के साथ-साथ उनका परागण के लिए ही का पालन करते हैं। भारत देश में इटालियन मेलीफेरा नामक मधुमक्खी का पालन होता हैं। यह मधुमक्खी शान्त स्वभाव की होती है। इसके लिए इसका पालन करना आसान होता है। मधुमक्खी से शहद और मोम अलावा गोंद, प्रोपोलिस, रॉयल जेली प्राप्त होता है।

मधुमक्खी पालन लोन योजना

केंद्र सरकार द्वारा मधुमक्खी पालन योजना का शुरुआत किया गया है। जिसके द्वारा किसान तथा बेरोजगार लोगों को मधुमक्खी पालन करने के लिए प्रोत्साहित करना है। जो भी मधुमक्खी पालन व्यवसाय करना चाहते हैं। उन्हें वित्तीय सहायता भी प्रदान किया जाता है। साथ ही साथ इस लोन पर सब्सिडी भी दिया जाता है। जिससे वह आसानी से अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा सकते है। भारत की जलवायु मधुमक्खी पालन के लिए बहुत ही अनुकूल मानी जाती है। जिसके कारण सरकार का मुख्य उद्देश्य है। किसान अधिक से अधिक मधुमक्खी पालन करके अपनी आय में वृद्धि करें और इस स्कीम का लाभ उठाएं।

मधुमक्खी पालन से लाभ (Benefit From Beekeeping Scheme)

  • मधुमक्खी पालन व्यवसाय में बहुत कम समय में अधिक लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
  • मधुमक्खी पालन व्यवसाय शुरु करने मे अधिक व्यक्तियों की जरूरत नहीं होती है केवल एक व्यक्ति भी यह काम शुरकर सकता है।
  • शहद और मोम की कीमत बाजार मे काफी अधिक हमेशा बनी रहती है।
  • मधुमक्खी पालन करने से पर्यावरण पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
  • मधुमक्खी पालन से कई प्रकार के फूल जैसे सूर्यमुखी के उत्पादन में अधिक बढ़ोतरी होती है।

मधुमक्खी पालन में लोन और सब्सिडी योजना (Loans and Subsidies Yojana in Beekeeping)

सरकार द्वारा मधुमक्खी पालन करने हेतु आपको 2 से 5 लाक तक का लोन दिया जाता है। इसमें सरकार का कुल लागत की 65 परसेंट तथा खादी ग्राम उद्योग द्वारा 25 परसेंट की सब्सिडी प्रदान की जाती है। कुल मिलाकर इस कार्य के लिए आपको केवल अपनी 10% धनराशि लगानी पड़ती है। आपको बता दें कि सरकार द्वारा प्रत्येक राज्य में 50 हनी बी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। और राष्ट्रीय विकास की ओर से 50% अनुदान देने की भी घोषणा की गई है।

Read More:-

मधुमक्खी पालन में लगने वाले सामान

मधुमक्खी पालन करने के लिए आपको निम्न प्रकार के वस्तुओं को जरूरत होती है इसके लिए आपको लकड़ी के बने बक्से, हाथों के दस्ताने, रानी मक्खी, खुली भूमि, शहद एकत्रित करने की मशीन सहित आदि चीजों की जरूरत पड़ती है। इस व्यवसाय की शुरू करने की बात करें तो आप अपने हिसाब से कर सकते है। अगर एक बॉक्स की कीमत की बात करें तो 4 से 5 हजार रुपये होती है। अगर आप इस स्कीम के तहत इस बॉक्स को खरीदते हैं। तो आपको 75 परसेंट की सब्सिडी भी दी जाती है।

मधुमक्खी पालन लोन योजना के लिए योग्यता (Beekeeping Loan Scheme Eligibility)

  • योजना का लाभ भारतीय नागरिकों को दिया जाएगा
  • लाभार्थी को कम से कम कक्षा 8 पास होना आवश्यक है।
  • इस योजना के अंतर्गत मधुमक्खी पालन कार्य करने वाले को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • योजना के अंतर्गत आप को निशुल्क प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

मधुमक्खी पालन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • पासपोर्ट साइज फोटो (Passport Size Photo)
  • मोबाइल नंबर (Mobile Number)
  • निवास प्रमाण पत्र (Domicile Certificate)
  • बैंक पास बुक (Bank Passbook)

कैसे करें मधुमक्खी पालन की शुरुआत

पूरे विश्व में मधुमक्खी की लगभग 20,000 से अधिक प्रजातियां पाई जाती है। लेकिन केवल चार प्रकार की प्रजातियों में शाहद बनता है। यदि आप मधुमक्खी पालन करना चाहते हैं तो आपको इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए। हालांकि सरकार द्वारा निशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। इस के द्वारा आप इस कार्य को आसानी से कर सकते हैं।

आपको बता दें कि मधुमक्खी पालन में तीन प्रकार के मधुमक्खियों की आवश्यकता होती है जो इस प्रकार है-

  • पहली मधुमक्खी रानी मधुमक्खी होती है जो 24 घंटे के अंदर 800 से 1500 अंडे देती है।
  • दूसरी प्रकार की मधुमक्खी को श्रमिक माखी कहते हैं जो अंडे से निकाले बच्चे को खाना खिलाने का कार्य करती है। मधुमक्खी पालन के श्रमिकों की संख्या एक डिब्बे में लगभग 25000 से ज्यादा होनी चाहिए।
  • तीसरी ड्रॉन अर्थात नर जो रानी मक्खी को गर्भ धारण करने का कार्य करती है। एक डिब्बे में लगभग 300 से 400 के बीच होनी चाहिए

कैसे करे मधुमक्खी पालन लोन योजना में आवेदन

  • मधुमक्खी पालन लोन योजना में आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले राष्ट्रीय मधुमक्खी पालन एवं शहद मिशन की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा
  • होम पेज पर आपको मधुमक्खी पालन योजना का एक लिंक दिखाई देगा उस पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप एक नए पेज में ओपन हो जाएंगे जिसमें आपको दिशानिर्देश पढ़कर नेक्स्ट पर क्लिक करना होगा
  • अब आपके सामने एक नया एप्लीकेशन फार्म खुलकर आएगा उसे आपको डाउनलोड करना है।
  • उस फार्म को डाउनलोड करके के पश्यचात उसे ध्यान पूर्वक भरने के पश्चात आपको नजदीकी मधुमक्खी पालन केंद्र में जमा करना होगा।
  • इसके बाद विभाग द्वारा आप के सभी डाक्यूमेंट्स को जांच किया जाएगा इसके बाद अगर आपका डॉक्यूमेंट सही पाया गया तो आपको चयन कर लिया जाएगा।
  • इसके बाद इस योजना के अंतर्गत आपको प्रशिक्षण और व्यवसाय करने के लिए लोन प्रदान कर दिया जाएगा।

आज के इस महत्वपूर्ण आर्टिकल को लेकर आप सभी का कोई भी सावल हो तो नीचे कमेंट बॉक्स मेंं ज़रूर लिखें और आर्टिकल कैसा लगा ये भी ज़रूर बताएं। इस लेख सभी किसान भाइयों तक शेयर ज़रूर करें, धन्यवाद।

WhatsApp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

एक बीघा से 48 लाख कमाओ इस खास फसल की खेती करके !